दिल्ली के गुरुद्वारों में बांटे जा रहे हैं प्रसाद की जगह पौधे

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी ने पर्यावरण को देखते हुए एक बड़ा फैसला लिया है। कमिटी ने यह फैसला लिया है कि गुरुद्वारे में भक्तों को अब से प्रसाद की जगह पौधा दिया जाएगा। यह पौधे वह स्कूल और कॉलेज के छात्रों को देंगे। उनका कहना है कि इन पौधों को जब वह खुद लगाएंगे तो ध्यान भी रखेंगे। 


संदेश है नानक का


गुरु नानक देव जी ने प्रकृति से प्यार करने का संदेश दुनिया को दिया था। गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के अवसर पर दिल्ली गुरुद्वारा मेनेजमेंट कमेटी ने पौधों को प्रसाद के रूप में देने का फैसला लिया। इतना ही नहीं पौधे देने से लेकर उसकी देखभाल तक कमेटी ने पूरा एक प्लान बनाया हुआ है। 

सेलिब्रेट किया जाएगा प्रकृति के प्रेम को 


दिल्ली गुरुद्वारे कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा, दिल्ली यूनिवर्सिटी में 9 कॉलेज और आईपी यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स वर्तमान छात्र को 10-10 पौधे लगाकर गुरु नानक देव की जयंजी पर इसे सेलिब्रेट किया जाएगा। 

यह प्लान बनाया गया है

सिरसा ने आगे कहा, स्टूडेंट्स से इस बार प्लान बनाकर पौधे लगवाए जाएंगे। कॉलेज के प्रोजेक्ट की तरह इन पौधों को लगाने का काम होगा। सालाना रिजल्ट के साथ इनके नंबर भी जुड़े जाएंगे। साथ ही एक रिपोर्ट भी स्टूडेंट्स सब्मित करेंगे जिसमें वह इन पौधों की देखभाल से लेकर उनके लगाने की प्रक्रिया के बारे में बताएंगे।


 नीम और बेर के पौधे ज्यादातर इनमें होंगे। नए पौधो लगाने का लक्ष्य साल में 55000 रखा गया है। यह पहल अच्छी ली गई है और साथ ही दिल्‍ली से कई राज्यों को पौधे लगाने के लिए कुछ सीखना चाहिए। 
Tags : ,Prasad,Delhi