+

दिल्ली HC ने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में सजा काट रहे दोषी की याचिका पर CBI से मांगा जवाब

न्यायमूर्ति विपिन सांघी तथा न्यायमूर्ति रजनीश भटनागर की पीठ ने कुमार द्वारा दायर याचिका पर सीबीआई को नोटिस जारी किया है।
दिल्ली HC ने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में सजा काट रहे दोषी की याचिका पर CBI से मांगा जवाब
दिल्ली हाई कोर्ट ने गुरुवार को बिहार के मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में कई लड़कियों के यौन उत्पीड़न के मामले में उम्र कैद की सजा को चुनौती देने की एक दोषी की याचिका पर सुनवाई की। याचिका पर कोर्ट ने सीबीआई से जवाब मांगा है। दोषी विकास कुमार बाल कल्याण समिति का सदस्य था। 
न्यायमूर्ति विपिन सांघी तथा न्यायमूर्ति रजनीश भटनागर की पीठ ने कुमार द्वारा दायर याचिका पर सीबीआई को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने अन्य दोषियों ब्रजेश ठाकुर और दिलीप कुमार वर्मा की अपीलों के साथ एक अक्टूबर को कुमार की याचिका को सुनवाई के लिये सूचीबद्ध किया है। 

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा पहुंचे डीसीपी सेल, दर्ज कराई शिकायत

ठाकुर और वर्मा को निचली अदालत ने शेष जीवन तक कारावास में रहने की सजा सुनाई है। ठाकुर और वर्मा ने इस मामले में निचली अदालत द्वारा आजीवन कारावास की सुनाए जाने के खिलाफ अपील की है। दोनों एक-एक बार बिहार पीपुल्स पार्टी (बीपीपी) के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं, जिनमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। ठाकुर के वकील प्रमोद कुमार दुबे ने अपने मुवक्किल पर लगाए गए 32.20 लाख रुपये के जुर्माने को निलंबित करने की भी अपील की है। 
facebook twitter