+

दिल्ली : दक्षिणी निगम के 'गिफ्ट ए ट्री' अभियान का ऑनलाइन मॉड्यूल शुरू

नागरिकों को पौधरोपण के बाद उसके रखरखाव की चिंता भी नहीं करनी पड़ेगी, क्योंकि उस पौधे की देखभाल की संपूर्ण जिम्मेदारी दक्षिणी निगम वहन करेगा। 'गिफ्ट ए ट्री' योजना का लाभ उठाने के लिए नागरिकों को मात्र 2000-2500 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
दिल्ली : दक्षिणी निगम के 'गिफ्ट ए ट्री' अभियान का ऑनलाइन मॉड्यूल शुरू
दक्षिणी निगम ने 'गिफ्ट ए ट्री' मॉड्यूल की शुरुआत की है, इससे नागरिक अपने प्रियजनों के जन्मदिवस, शादी की सालगिरह जैसे महत्वपूर्ण अवसरों पर उनकी तरफ से पौधरोपण कर सकेंगे। साथ ही निगम के ऑनलाइन मॉड्यूल की सहायता से एक प्रमाणपत्र मिलेगा, जिसे वे अपने प्रियजन को भेंट कर सकेंगे।
हालांकि नागरिकों को पौधरोपण के बाद उसके रखरखाव की चिंता भी नहीं करनी पड़ेगी, क्योंकि उस पौधे की देखभाल की संपूर्ण जिम्मेदारी दक्षिणी निगम वहन करेगा। 'गिफ्ट ए ट्री' योजना का लाभ उठाने के लिए नागरिकों को मात्र 2000-2500 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
इस अवसर पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण के अध्यक्ष, न्यायाधीश आदर्श कुमार गोयल ने ऑनलाइन मॉड्यूल के माध्यम से हरसुख पार्क में मौलश्री का पौधा लगाकर दक्षिणी निगम के अभियान के ऑनलाइन मॉड्यूल का शुभारंभ किया।
इस अवसर पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण के अध्यक्ष आदर्श कुमार गोयल ने दक्षिणी निगम के इस अभियान की सराहना करते हुए कहा, 'निगम को इस प्रकार के पर्यावरण हितैषी कार्यक्रम युद्धस्तर पर लागू करने की आवश्यकता है।'
दक्षिणी निगम के आयुक्त ज्ञानेश भारती ने कहा, 'वृक्ष पृथ्वी का आभूषण हैं। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में सबसे महत्वपूर्ण कार्य वृक्षारोपण है। अपने जीवनकाल में एक वृक्ष 1 टन कार्बन डाइऑक्साइड ग्रहण करता है, जिसकी वजह से भूमंडलीय ऊष्मीकरण को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है।'
उन्होंने कहा,'वृक्षारोपण प्रकृति को सहेजने एवं पर्यावरण संरक्षण की दिशा में किया जा सकने वाला सबसे सरल कार्य है। इस अभियान के अंतर्गत नागरिक ऑनलाइन मॉड्यूल के माध्यम से दक्षिणी निगम के चुनिंदा पार्को में वृक्षारोपण कर सकेंगे और उस पेड़ की देखभाल का संपूर्ण जिम्मा दक्षिणी निगम का होगा।'
facebook twitter instagram