+

Women's Day : दिल्ली महिला आयोग ने 48 लोगों को किया सम्मानित, चंद्रयान-2 की महिला साइंटिस्ट को भी सम्मान

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर दिल्ली महिला आयोग ने आज कुल 48 व्यक्तियों को सम्मानित किया, जिन्होंने देश की महिलाओं के हितों के लिए और देश का नाम रौशन करने का काम किया है।
Women's Day : दिल्ली महिला आयोग ने 48 लोगों को किया सम्मानित, चंद्रयान-2 की महिला साइंटिस्ट को भी सम्मान
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर दिल्ली महिला आयोग ने आज कुल 48 व्यक्तियों को सम्मानित किया, जिन्होंने देश की महिलाओं के हितों के लिए और देश का नाम रौशन करने का काम किया है। आयोग ने सोमवार को अवॉर्ड सेरेमनी का आयोजन किया गया जिसके मुख्य अतिथि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रहे। कार्यक्रम में डिफेंस, खेल, सामाजिक संस्थाओं और आम नागरिकों को उनके शानदार कार्यों के लिए सम्मानित किया। 
इनमें से कुछ मुख्य चेहरे थे कैप्टन तानिया शेरगिल, देश की पहली महिला जिन्होंने गणतंत्र दिवस परेड में पुरुष दस्तों का नेतृत्व किया, सीआरपीएफ की डेयरडेविल बाइकर दस्ता जिसका नेतृत्व किया इंस्पेक्टर सीमा नाग ने, भारतीय क्रिकेट टीम की सदस्य और एयर फोर्स की जवान शिखा पांडेय। इसके अतिरिक्त और भी कई डिफेंस क्षेत्र से जुड़ी महिलाओं को सम्मानित किया गया। 
दिल्ली पुलिस की हेड कांस्टेबल सीमा ढाका के साथ साथ आयोग ने पुलिस विभाग के भी कई अफसरों को सम्मानित किया, जिन्होंने अपने कार्य से महिलाओं और बच्चों की जान बचाई। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा दिल्ली पुलिस के जवानों को अवॉर्ड दिलवाकर सम्मानित किया गया। वहीं 11 वर्षीय पर्यावरण एक्टिविस्ट लिसिप्रिया कंगुजम को भी आयोग से अवॉर्ड मिला, साथ ही 85 वर्षीय महाराष्ट्र की शांता बालू पवार को भी सम्मानित किया गया। कुछ महीनों पहले शांता ताई की वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी, जिसमें शांता ताई लाठी से अपनी कला का प्रदर्शन करती देखी गई थीं। उन्हें सोशल मीडिया पर 'वॉरियर आजी' के नाम से भी जाना जाता है। 
कार्यक्रम में इंस्टाग्राम की बड़ी सेलिब्रिटी कुशा कपिला और डॉली सिंह को भी आयोग द्वारा सम्मानित किया गया। कुशा और डॉली महिलाओं से जुड़े विषयों पर कॉमेडी वीडियो बनाती हैं जिसे करोड़ों लोग देखते हैं। आयोग द्वारा चंद्रयान 2 की महिला साइंटिस्ट्स को भी सम्मानित किया, विज्ञान के क्षेत्र में चंद्रयान 2 भारत की बहुत बड़ी उपलब्धि की तरह देखा जाता है। बॉलीवुड अभनेत्री दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक, लक्ष्मी अग्रवाल पर बनाई गई है, जिनपर बहुत छोटी उम्र में एसिड से हमला किया गया था और उसके बाद भी लक्ष्मी आज हर इंसान के लिए एक मिसाल बनकर उभरी है। लक्ष्मी को भी सम्मानित किया गया। 
पिछले वर्ष उन्नाव दुष्कर्म केस बहुत चर्चा में रहा था, जब विधायक कुलदीप सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगा था। उस व़क्त बाहुबली सेंगर के खिलाफ कोर्ट में लड़ाई लड़ने को तैयार हुए वकील महेंद्र सिंह को भी सम्मानित किया गया। पिछले साल हुए दंगों में सरदार मोहिंदर सिंह जी ने लगभग तीस लोगों जी जान बचाई, उसी दौरान एक परिवार को दंगों से बचाते हुए प्रेमकांत भी आग में 70 फीसदी झुलस गए थे, आयोग द्वारा इन दोनों को भी सम्मानित किया गया। पिछले वर्ष गलवान घाटी में शहीद हुए 21 वर्षीय जवान सरदार गुरतेज सिंह को भी आयोग द्वारा सम्मानित किया गया। शहीद गुरतेज की माता जी को सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा अवॉर्ड दिया गया। 
आयोग द्वारा कई ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट को भी सम्मानित किया गया, जिनमें से मुख्य चेहरा रहीं महाराष्ट्र की रहने वाली लक्ष्मी हैं। खेल जगत में देश का नाम रौशन करने वालीं गोल्फ खिलाड़ी दीक्षा डागर को भी महिला आयोग द्वारा सम्मानित किया गया। संघर्ष पूर्ण जीवन के बाद भी कुश्ती में नाम करने वाली नीतू सरकार को भी अवॉर्ड दिया गया है। आयोग का कहना है कि अवॉर्डस का मकसद देश के हर नागरिक को प्रोत्साहित करना है और साथ ही उन महान लोगों को सामने लाना है, जिन्होंने महिलाओं कि रक्षा और उत्थान के लिए समाज में बेहतरीन काम किया है।
अवॉर्ड सेरेमनी के दौरान दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, दिल्ली महिला आयोग ने पिछले 5 साल के अभूतपूर्व और अविश्वसनीय कार्य करके दिखाया है। आयोग ने पिछले 5 साल में 1 लाख से भी ऊपर मामलों की सुनवाई की, 4.35 लाख से भी ज्यादा कॉल अपनी 181 हेल्पलाइन पर अटेंड की और अनगिनत बच्चियों, महिलाओं को अलग अलग जगहों से रेस्क्यू करवाया है।
दिल्ली महिला आयोग अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर देश की हर महिला को सलाम करता है, हर व्यक्ति को सलाम करता है जो महिलाओं के हितों के लिए काम कर रहे हैं। हमारी जंग जारी है और हमारा लक्ष्य है दिल्ली और देश की हर महिला को एक सुरक्षित वातावरण देना। दिल्ली के उपमुख्मंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली सरकार द्वारा बच्चियों और महिलाओं की शिक्षा के महत्व पर जोर देते हुए अपनी सरकार द्वारा किए कामों के बारे में बताया। 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, दिल्ली महिला आयोग देश का इकलौता आयोग है जिसे लोग उसके काम से पहचानते हैं। स्वाति मालीवाल ने अपनी जान जोखिम में डालते हुए तस्करी, अवैध शराब इत्यादि के तस्करी पर रोक लगाने का काम किया है। दिल्ली महिला आयोग हर वर्ष इन अवॉर्डस के जरिए देश की उन कहानियों की सामने लेके आता है जो हम तक शायद आमतौर पर नहीं पहुंच पाती।
मैं आज सभी महिलाओं को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सलाम करता हूं और आज के दिन की ढेरों शुभकामनाएं देता हूं।आयोग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में सीएम अरविंद केजरीवाल के अलावा दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली सरकार के महिला बाल विकास मंत्री राजेंद्र पाल गौतम, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल, सांसद संजय सिंह, वायु सेना के एयर मार्शल और कई बड़े अधिकारी मौजूद रहे। 
facebook twitter instagram