कांग्रेस विधायक की टिप्पणी से आहत मांगणियार समुदाय, विरोध प्रदर्शन किया

राजस्थान का मांगणियार समुदाय कांग्रेस के एक विधायक की विधानसभा में की गई टिप्पणी से आहत है और पिछले तीन दिन से विरोध प्रदर्शन कर रहा है। मांगणियार समुदाय के लोगों का कहना है कि विधायक ने अपनी टिप्पणी में उन्हें ‘‘भीख मांगने वाला व चोरी करने वाला’’ बताया। 

मांगणियार समुदाय के गायकों ने अपनी विशिष्ट गायन शैली से दुनिया भर में अलग पहचान कायम की है। पिछले तीन दिन से ये राजस्थान के जैसलमेर, जोधपुर व बाड़मेर शहरों में विधायक अमीन खान की टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। इनकी मांग है कि शिव क्षेत्र से विधायक अमीन खान अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगे। 

राजस्थान रत्न अवार्डी चुग्गे खान ने कहा, ‘‘भीख से हमें अवार्ड नहीं मिले, बल्कि हमने उन्हें जीता है। हम अवार्ड जीतने के लिए नहीं बल्कि दिल जीतने के लिए काम करते हैं। हम 19 पीढियों से यह काम कर रहे हैं। विधायक की टिप्पणी आपत्तिजनक है और इससे हमारी भावनाओं को ठेस पहुंची है।’’ खान 128 देशों की यात्राएं कर चुके हैं और दुनिया भर में उनका नाम है। 

उन्होंने कहा कि उनका समुदाय जैसलमेर, बाड़मेर व जोधपुर में प्रदर्शन कर रहा है और इस बारे में संबद्ध जिला कलेक्टरों को ज्ञापन भी सौंपे गए हैं। उन्होंने कहा कि विधायक द्वारा माफी नहीं मांगे जाने तक विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। 

उल्लेखनीय है कि विधायक खान ने 2019-20 के संशोधित बजट पर बहस के दौरान विधानसभा में कहा, ‘‘मेरा निवेदन है कि गरीब कमजोर तबका इस आरक्षण के बाद भी अभी तक कमजोरी के स्तर पर है और इन्हें सुधारने के लिए जो खर्च करे उसमें उनकी पढ़ाई पर विशेष ध्यान दे। 

इनके आवासीय स्कूल ज्यादा खोले। इनके लिए उच्च ग्रेड की स्कूलों, कालेजों में अच्छा इंतजार और इनका सारा खर्चा सरकार वहन करे। इससे गरीब सबल के बराबर आ जाएंगे। 

उन्होंने कहा, ‘‘कर्जे की बात और मांगने की बात आपके भी धर्म में हमारे भी धर्म है। हमारे धर्म में मांगणियार वगैरह हमसे मांगते हैं। हमारे मजहब में लिखा है कि मांगणियार की रोटी खाना हराम है।’’ 

खान ने आगे कहा, ‘‘उसका कारण बताया है कि भीख मांगना व चोरी करना ये दोनों गुनाह बराबर है। मांगणियार का खाना नहीं खाना चाहिए।’’  
Download our app
×