मामले वापस नहीं लेने तक बिट्टू का दाह संस्कार नहीं करने पर अड़ा डेरा

डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी सोमवार को इस बात पर अड़ गए कि वह अपने पंथ के समर्थक मोहिंदर पाल बिट्टू का दाह-संस्कार नहीं करेंगे। उनकी मांग है कि बिट्टू व डेरा के अन्य समर्थकों के खिलाफ दर्ज धर्म ग्रंथ की बेअदबी के मामले वापस लिए जाएं, इसके बाद ही वे बिट्टू का दाह संस्कार करेंगे। 

बिट्टू 2015 में पंजाब के बरगारी में गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान से संबंधित एक मामले में मुख्य संदिग्ध था। पुलिस ने कहा कि पटियाला के पास उच्च सुरक्षा वाली नाभा जेल में शनिवार शाम एक हत्या के आरोपी और हत्या के दोषी ने बिट्टू को तब तक डंडों से पीटा, जब तक वो मर नहीं गया। 

उन्होंने कहा कि उसे सिविल अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बिट्टू के बेटे अरमिंदर कुमार ने फरीदकोट जिले में अपने गृहनगर कोटकापुरा में संवाददाताओं से कहा, "हमने सरकार के प्रतिनिधियों को अपनी मांगें बता दी हैं। हमारी प्रमुख मांग है कि मेरे पिता के खिलाफ सभी झूठे आरोप हटाए जाएं।" 

उसने कहा, "वह अब इस दुनिया में नहीं हैं। कम से कम अब उनके खिलाफ लगाए गए कलंक को हटा दिया जाना चाहिए। जब तक वह इस कलंक से मुक्त नहीं हो जाते, हम उनका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।" 

2017 में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी ठहराए जाने के बाद हरियाणा के पंचकूला शहर में हिंसा भड़काने समेत कई मामलों में वांछित बिट्टू को हिमाचल प्रदेश के पालमपुर शहर से एक विशेष जांच दल ने गिरफ्तार किया था। 
Tags : ,Bittu