+

दिग्विजय बोले-नीतीश को बड़ा दिल कर तेजस्वी के लिए CM पद की कर देनी चाहिए अनुशंसा

दिग्विजय सिंह ने कहा कि तेजस्वी तो उनका भतीजा है। उन्होंने चाचा की कई बार मदद की है, एक बार चाचा भी भतीजे की मदद कर दीजिए।
दिग्विजय बोले-नीतीश को बड़ा दिल कर तेजस्वी के लिए CM पद की कर देनी चाहिए अनुशंसा
मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार को बड़ा दिल करके तेजस्वी यादव के लिए मुख्यमंत्री पद की अनुशंसा कर देनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा, नीतीश समाजवादी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा में विश्वास रखने वाले लोगों को एकजुट करने में मदद करें क्योंकि ऐसा करना ही महात्मा गांधी और जयप्रकाश नारायण को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 
बुधवार को उन्होंने कहा, नीतीश जी को बड़ा दिल करके तेजस्वी के लिए मुख्यमंत्री पद की अनुशंसा कर देनी चाहिए और जेडीयू के जितने भी लोग हैं वो फॉर्मुला बना लें डिप्टी सीएम... जो भी पद उनको ठीक लगे। उन्होंने कहा कि तेजस्वी तो उनका भतीजा है। उन्होंने चाचा की कई बार मदद की है, एक बार चाचा भी भतीजे की मदद कर दीजिए।
बीजेपी/संघ अमरबेल के समान, जिस पेड़ पर लिपट जाए वह सूख जाता है
इससे पहले दिग्विजय ने ट्वीट करते हुए लिखा, बीजेपी/संघ अमरबेल के समान हैं, जिस पेड़ पर लिपट जाती हैं वह पेड़ सूख जाता है लेकिन वे खुद पनपती जाती हैं। नीतीश जी, लालू जी ने आपके साथ संघर्ष किया है, आंदोलनों मे जेल गए है। बीजेपी/संघ की विचारधारा को छोड़ कर तेजस्वी को आशीर्वाद दे दीजिए। इस “अमरबेल” रूपी बीजेपी/संघ को बिहार में मत पनपाओ।’’ 
उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री से यह अपील भी की, ‘‘नीतीश जी, बिहार आपके लिए छोटा हो गया है, आप भारत की राजनीति में आ जाएं। सभी समाजवादी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा में विश्वास रखने वाले लोगों को एकमत करने में मदद करते हुए, संघ द्वारा अंग्रेजों की पनपाई “फूट डालो और राज करो” की नीति ना पनपने दें। विचार ज़रूर करें।’’ 

हारकर भी सबसे आगे तेजस्वी, शिवसेना बोली-बिहार की राजनीति में एक नया युग आया

दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘‘यही महात्मा गांधी जी व जयप्रकाश नारायण जी के प्रति सही श्रद्धांजलि होगी। आप उन्हीं की विरासत से निकले राजनेता हैं, वहीं आ जाइए। आपको याद दिलाना चाहूंगा, जनता पार्टी संघ की दोहरी सदस्यता के आधार पर ही टूटी थी। बीजेपी /संघ को छोड़िए। देश को बर्बादी से बचाइए।’’ 
उल्लेखनीय है कि बिहार में सत्ता विरोधी लहर और विपक्ष की कड़ी चुनौती को पार करते हुए नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने 243 सीटों में से 125 सीटों पर जीत प्राप्त कर बहुमत का जादुई आंकड़ा हासिल कर लिया है। भले ही एनडीए ने बहुमत हासिल किया है, लेकिन इस चुनाव में विपक्षी ‘महागठबंधन’ का नेतृत्व कर रहा राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) 75 सीटें अपने नाम करके सबसे बड़ी एकल पार्टी के रूप में उभरा है। 
facebook twitter instagram