+

कनिमोझी के नेतृत्व में हाथरस पीड़िता के लिए न्याय की मांग करते हुए मार्च निकालेगी DMK महिला इकाई

मुक अध्यक्ष एम के स्टालिन ने आरोप लगाया कि अल्पसंख्यकों, महिलाओं और अनुसूचित जाति तथा जनजाति समुदाय की सुरक्षा पर 'उत्तर प्रदेश में प्रश्नवाचक चिह्न लगा रहता है।'
कनिमोझी के नेतृत्व में हाथरस पीड़िता के लिए न्याय की मांग करते हुए मार्च निकालेगी DMK महिला इकाई
हाथरस गैंगरेप पीड़िता के लिए न्याय की मांग करते हुए द्रमुक की महिला इकाई सोमवार को राजभवन की तरफ एक कैंडल मार्च निकालेगी। मार्च इस शाखा की प्रमुख और सांसद कनिमोझी के नेतृत्व में आयोजित की जाएगी। हाथरस में 19 वर्षीय दलित लड़की गैंगरेप के बाद उसकी मौत हो गई थी। 
द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन ने आरोप लगाया कि अल्पसंख्यकों, महिलाओं और अनुसूचित जाति तथा जनजाति समुदाय की सुरक्षा पर 'उत्तर प्रदेश में प्रश्नवाचक चिह्न लगा रहता है।' उन्होंने एक बयान में कहा कि मीडिया को भी सुरक्षा की कमी महसूस हो रही है। केंद्र सरकार का कर्तव्य है कि वह इस स्थिति से निपटे और सबकी सुरक्षा सुनिश्चित करे। 
उन्होंने कहा कि द्रमुक महिला इकाई ने राजभवन की तरफ मार्च निकालने का प्रस्ताव रखा। लोकसभा सदस्य कनिमोझी इस प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगी। उन्होंने कहा कि पार्टी की महिला कार्यकर्ता हाथरस पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए कैंडल मार्च निकालेंगी। 
कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा को हाथरस जाने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस पर बरसते हुए स्टालिन ने कहा, ''उत्तर प्रदेश सरकार को अपनी गलतियां सुधारनी चाहिए और महिला को न्याय मिल सके, यह सुनिश्चित करना चाहिए।'' 
स्टालिन ने कहा, '' सरकार को सार्वजनिक तौर पर राहुल गांधी से माफी मांगनी चाहिए और केंद्र सरकार को इस संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार को दिशानिर्देश जारी करने चाहिए।'' उन्होंने कहा कि सोमवार को प्रदर्शन में यह मांग भी रखी जाएगी। 

facebook twitter instagram