धनतेरस के दिन इन चीज़ों की खरीदारी करना माना जाता है अशुभ

इस बार धनतेरस का त्योहार 25 अक्टूबर को मनाया जाएगा। धनतेरस के दिन खरीदारी करना शुभ माना जाता है। ऐसा करने से आपके धन में वृद्घि भी होती है साथ ही घर में समृद्घि आती है। अक्सर ऐसा होता है धनतेरस के दिन गृहणियां सोचती है घर के लिए कोई ऐसी चीज खरीदी जाए जिसकी उन्हें जरूरत है या फिर जो सामान उनके घर में पहले नहीं होता है। 


बेशक आप इन चीजों को शुभ अवसर पर ही क्यों नहीं खरीद रहे हों,मगर कुछ चीजें ऐसी भी होती हैं जिन्हें धनतेरस के दिन खरीदना अशुभ माना जाता है। तो चालिए आज हम आपको बताने वालें हैं धनतेरस के दिन किन चीजों को लेने का परहेज करना चाहिए। 


1.इन चीजों का होता है नकारात्मक असर

ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक धनतेरस के दिन गलती से भी लोहे से बनी चीजें नहीं खरीदनी चाहिए। क्योंकि इस दिन लोहा खरीदना बहुत ज्यादा अशुभ माना जाता है। इससे आपकी जिंदगी पर नकारात्मक असर भी पड़ता है।


2.राहु से इनका संबंध

धनतेरस के खास दिन कांच या कांच से बनी कोई भी चीज नहीं खरीदनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि कांच का संबंध राहु से है और राहु नीच ग्रह माना जाता है। इस वजह से धनतेरस के दिन ग्रह-नक्षत्रों को सही रखने के लिए कांच से बनी कोई भी चीज ना खरीदें। 


3.अशुभ मानें जाते हैं इस धातु के बर्तन

धनतेरस के शुभ अवसर पर एल्युमिनियम का बर्तन खरीदना अशुभ माना जाता है। क्योंकि इसका संबंध भी राहु से होता है इसी वजह से है एल्युमिनियम का प्रयोग पूजा-पाठ में नहीं किया जाता है। इसके साथ ही एल्युमिनियम के बर्तन में खाना बनाना सेहत के लिए भी हानिकारक होता है। 


4.न लाएं इस रंग की चीजें

धनतेरस के मौके पर कोई भी काली रंग की चीजें नहीं खरीदें। हिंदू धर्म में काला रंग दुर्भाग्य का प्रतीक माना जाता है। इस वजह से धनतेरस के दिन कालें रंग से बनी चीजों की खरीददारी नहीं करनी चाहिए। 


5.नहीं लाएं खाली बर्तन

ज्यादातर लोग धनतेरस के दिन बर्तन खरीदते हैं। इस बीच आप इस बात का जरूर ध्यान रखें आप जो भी बर्तन खरीदकर घर ला रहे हों उसे खाली ना लाएं। खरीदे हुए बर्तनों में पानी या अनाज डाल लें। इसके बाद ही बर्तनों को घर लेकर आए। 


6.नहीं खरीदें ये चीजें

धनतेरस के दिन तेल,रिफाइंड,घी इत्यादि तैलीय चीजें नहीं खरीदें। बेशक आप इन सारी चीजों को एक दिन पहले ही खरीद लें। ऐसा इस वजह से क्योंकि धनतेरस के दिन आपको घर में दीपक जलाने जोते हैं। 



Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,festival