क्या मुसलमानों पर जुल्म के वक्त अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की मानवता दम तोड़ देती है : इमरान

कश्मीर मामले में पूरी कोशिशों के बावजूद दुनिया को अपनी बात नहीं समझा पाने पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की बेचैनी बढ़ रही है। वह लगातार 'कश्मीर पर दुनिया की खामोशी' की बात दोहरा रहे हैं, बिना इस बात का नोटिस लिए कि 'दुनिया' चुप नहीं है बल्कि कश्मीर पर भारत के रुख का समर्थन कर रही है। 

इमरान का ताजा बयान गुरुवार को आया जब उनके मुताबिक, कश्मीर में 'सभी कुछ बंद होने' की अवधि 32वें दिन में प्रवेश कर गई। उन्होंने ट्वीट किया, 'मोदी सरकार के सुरक्षा बलों की कश्मीर की घेराबंदी 32वें दिन में प्रवेश कर गई है। इसकी आड़ में पैलेट गन से कश्मीरी मर्द, औरतें, बच्चे मारे जा रहे हैं। अस्पतालों में दवाएं नहीं हैं। संचार ब्लैकआउट कर दिया गया है।'

अपने ट्वीट में इमरान यहीं नहीं रुके। उन्होंने एक और ट्वीट किया, 'भारत द्वारा अंतर्राष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन दुनिया के सामने है। दुनिया भारत द्वारा हो रहे मानवाधिकार उल्लंघन पर खामोश क्यों है? क्या मुसलमानों पर जुल्म के वक्त अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की इंसानियत दम तोड़ जाती है? आखिर, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ऐसा कर विश्व के 1.3 अरब मुसलमानों क्या संदेश देना चाह रहा है?' 
Tags : Railway Board,Punjab Kesari,हाजीपुर,Hajipur,246 Water Vending Machines ,humanity,Muslims,atrocities,Imran