DU के चुनाव जारी, NSUI ने EVM में गड़बड़ी के आरोप लगाए

ईवीएम में गड़बड़ी और कुछ प्रत्याशियों को प्रवेश देने से इनकार के बीच गुरुवार को दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (डूसू) के चार पदों के लिए चुनाव का पहला चरण संपन्न हुआ। 

चुनाव में 16 प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर है मतदान के लिए 52 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। डूसू चुनाव में कुल 1.3 लाख मतदाता छात्र हैं। 

प्रात: कालीन कक्षाओं के लिए मतदान सुबह साढ़े नौ बजे शुरू हुआ और दोपहर एक बजे खत्म हुआ। 

सांध्यकालीन कक्षाओं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए दोपहर तीन बजे मतदान शुरू हुआ और यह शाम साढ़े सात बजे खत्म होगा। 

नॉर्थ कैम्पस के 17 बूथों पर कुल 38 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। यहां पर किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए 400 पुलिस जवानों की तैनाती की गई थी। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जेपी अग्रवाल ने भी करीब साढ़े ग्यारह बजे नॉर्थ कैम्पस का दौरा किया और युवा मतदाताओं से बातचीत की। 

कांग्रेस से संबद्ध नेशनल स्टुडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने दावा किया कि संयुक्त सचिव पद के उसके उम्मीदवार अभिषेक चपराना को दक्षिण दिल्ली के दयाल सिंह कॉलेज में मतदान केंद्रों पर नहीं जाने दिया। संगठन ने दावा किया कि चपराना को ‘‘गैरकानूनी ढंग से हिरासत’’ में लिया गया है। 

हालांकि पुलिस ने कहा कि यह उम्मीदवार कॉलेज के बाहर प्रचार कर रहा था जिसकी इजाजत नहीं है। 

पुलिस ने कहा कि जब उसे प्रचार करने से रोका गया तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ खराब बर्ताव किया इसलिए उसे हिरासत में लेना पड़ा। 

एनएसयूआई ने ईवीएम में गड़बड़ी का भी आरोप लगाया। संगठन की राष्ट्रीय प्रभारी रुचि गुप्ता ने ट्वीट किया, फिर आर्यभट्ट कॉलेज में ईवीएम में गड़बड़ी की गई जैसा एनएसयूआई के खिलाफ होता रहा है। जब एनएसयूआई प्रत्याशी के पक्ष में बटन दबाया जा रहा था तो ईवीएम में मत पंजीकृत होने की जानकारी देने वाली बत्ती नहीं जली। हमारे प्रतिनिधि और जानकारी प्राप्त कर रहे हैं।’’ 

चुनाव समिति सदस्य ने बताया कि मत डाले जा रहे हैं लेकिन बत्ती जलने में कुछ समस्या आई। ईवीएम को बदल दिया गया है। उन्होंने कहा कि कॉलेज में 152 वोट डाले गए हैं। 

एनएसयूआई के सचिव प्रत्याशी आशीष लाम्बा को रामजस कॉलेज में प्रवेश करने नहीं दिया गया। यह कदम अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की ओर से बाहरी व्यक्तियों को साथ लाने के आरोप के बाद उठाया गया। 

पुलिस ने बताया कि चुनाव के दौरान कोई अप्रिय घटना नहीं हुई और चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुआ। 

किरोड़ीमल कॉलेज में तीन छात्रों ने (दो छात्र और एक छात्रा) अपने दोस्तों के पहचानपत्र के आधार पर दोबारा मतदान करने की कोशिश की। कॉलेज के अधिकारियों ने बताया कि अगले हफ्ते इनपर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। 

चुनाव में उतरे 16 उम्मीदवारों में केवल चार उम्मीदवार छात्राएं हैं। उनमें से भी दो निर्दलीय हैं। 

एबीवीपी ने डूसू अध्यक्ष पद के लिए अक्षित दहिया को, उपाध्यक्ष पद के लिए प्रदीप तंवर को, महासचिव पद के लिए योगित राठी और संयुक्त सचिव पद के लिए शिवांगी खेरवाल को उतारा है। 

एनएसयूआई ने दहिया के खिलाफ चेतना त्यागी को और वाम दल समर्थित आइसा ने अध्यक्ष पद के लिए दामिनी कैन को उतारा है। 

एनएसयूआई ने उपाध्यक्ष पद के लिए अंकित भारती को, सचिव पद के लिए आशीष लांबा और संयुक्त सचिव पद के लिए अभिषेक चपराना को चुनाव मैदान में उतारा है। 

पिछले साल के चुनाव में एबीवीपी ने तीन पदों पर जीत हासिल की थी जबकि एनएसयूआई को एक सीट मिली थी। 
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops ,elections,DU,NSUI