+

कोरोना काल में चुनाव प्रचार के दौरान उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, चुनाव आयोग ने लिया संज्ञान

चुनाव आयोग ने कहा है कि संबद्ध उम्मीदवारों एवं इस तरह के उल्लंघनों के लिए जिम्मेदार आयोजकों के खिलाफ मुख्य निर्वाचन अधिकारी तथा जिला मशीनरी से दंडनीय प्रावधान पर अमल की उम्मीद की जाती है।
कोरोना काल में चुनाव प्रचार के दौरान उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, चुनाव आयोग ने लिया संज्ञान
देश के कई राज्यों में चुनाव और उपचुनाव होने हैं। इसके मद्देनजर राजनीतिक दलों का प्रचार अभियान भी ज़ोरो पर हैं। प्रचार मैदान की कई ऐसी तस्वीरें सामने आई जो सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना महामारी के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाती दिखी। वहीं नेताओं द्वारा जन सभाओं को बगैर मास्क पहने संबोधित करते हुए भी देखा गया। 
इस मामले में चुनाव आयोग ने बुधवार को गंभीरता से लेते हुए सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर की पार्टियों के अध्यक्षों और महासचिवों को एक परामर्श जारी किया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि संबद्ध उम्मीदवारों एवं इस तरह के उल्लंघनों के लिए जिम्मेदार आयोजकों के खिलाफ मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) तथा जिला मशीनरी (प्रशासन) से दंडनीय प्रावधान पर अमल की उम्मीद की जाती है। 
परामर्श में कहा गया है, ‘‘आयोग ने जमीनी स्तर पर भीड़ को अनुशासित रखने के संदर्भ में राजनीतिक पार्टियों और उम्मीदवारों की ओर से बरती गई लापरवाही पर गंभीर संज्ञान लिया है, और इसलिए यह (आयोग) इस बात को दोहराता है और उन्हें परामर्श दिया जाता है कि वे चुनाव प्रचार करने के दौरान अत्यधिक सतर्कता एवं सावधानी बरतें।
बिहार विधानसभा चुनाव और अन्य राज्यों में उपचुनावों के लिए चुनाव प्रचार जोरशोर से चल रहा है। बिहार में विधानसभा तीन चरणों में होने का कार्यक्रम है, पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को, दूसरे चरण का तीन नवंबर को और तीसरे चरण का चुनाव सात नवंबर को होगा। अन्य राज्यों में ज्यादातर विधानसभा उपचुनाव तीन नवंबर को हैं। बिहार में वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट पर और मणिपुर में कुछ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव सात नवंबर को होना है। ’’ 
facebook twitter instagram