+

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ED ने जीवीके ग्रुप और एमआईएएल के कई परिसरों पर की छापेमारी

धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत ईडी ने मुंबई और हैदराबाद के नौ परिसरों में छापेमारी की।
मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ED ने  जीवीके ग्रुप और एमआईएएल के कई परिसरों पर की छापेमारी
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के सिलसिले में मुंबई और हैदराबाद में छापेमारी की। यह छापेमारी जीवीके समूह, मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट (एमआईएएल) और अन्य के खिलाफ हुई। अधिकारियों ने बताया कि मुंबई एयरपोर्ट के संचालन में 705 करोड़ रुपये की कथित अनियमितता की जांच के संबंध में छापेमारी की गई।
उन्होंने बताया कि धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत मुंबई और हैदराबाद के नौ परिसरों में छापेमारी की जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि जीवीके समूह, एमआईएएल और जीवीके समूह के प्रवर्तकों के परिसरों पर छापे मारे गए।
केंद्रीय जांच एजेंसी ने इन कंपनियों के खिलाफ सीबीआई की हालिया प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद इस महीने की शुरुआत में पीएमएलए के तहत प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट, जोकि पुलिस की एफआईआर के समकक्ष होती है, दर्ज की थी। प्रवर्तन निदेशालय इस बात की जांच कर रहा है कि क्या आरोपियों द्वारा निधियों के अवैध हस्तांतरण से वास्तविक धनराशि का शोधन कर निजी संपत्ति संग्रहीत की गई। 
ईडी और सीबीआई के मामले मुंबई एयरपोर्ट लिमिटेड (एमआईएएल) के कोष से 705 करोड़ रुपये की कथित हेराफेरी से जुड़े हुए हैं जिसके लिए खर्च को बढ़ा हुआ दिखाया गया, राजस्व को कम दिखाया गया तथा रिकॉर्ड में हेरफेर समेत अन्य गड़बड़ियां की गईं। एमआईएल, जीवीके एयरपोर्ट होल्डिंग लिमिटेड और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के अलावा अन्य निवेशकों के बीच सार्वजनिक-निजी साझेदारी (पीपीपी) के तहत संयुक्त उद्यम है।
facebook twitter