बहुस्तरीय रहेगी ईवीएम की सुरक्षा व्यवस्था

गुरुग्राम : गुरुग्राम लोकसभा क्षेत्र में कुल मिलाकर शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हो गया। किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। शाम 6:00 बजे तक जो मतदाता वोट डालने के लिए मतदान केंद्र पर लाइन में लगे उन्हें भी मत डालने दिया गया। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम थे। जिला उपायुक्त अमित खत्री और गुरुग्राम पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकील ने जिला के अधिकतर मतदान केंद्रों का दौरा किया और सुरक्षा इंतजाम पर कड़ी नजर बनाए रहे। मतदान के बाद मतदान केंद्रों से वापस मतगणना केंद्र पर लाए जाने वाली ईवीएम की सुरक्षा व्यवस्था बहुस्तरीय बनाई गई है।

इसमें किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाएगी। जिला उपायुक्त अमित खत्री ने मीडिया से बातचीत में दावा किया कि गुरुग्राम के सभी विधानसभा क्षेत्रों में मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। ऐसे मतदाताओं को भी मत डालने दिया गया जो शाम 6:00 बजे तक मतदान केंद्र के बाहर लाइन में लग चुके थे। उन्होंने कहा कि कुछ मायने प्रशासनिक घटनाओं को छोड़कर कहीं भी किसी मतदान केंद्र पर लंबे समय तक मतदान की प्रक्रिया बाधित नहीं रही। उन्होंने उम्मीद जताई कि कुल मिलाकर गुरुग्राम संसदीय क्षेत्र में आज हुए मतदान का प्रतिशत काफी अच्छा रहेगा।

मतदान के बाद ईवीएम को स्ट्रांग रूम में रखे जाने और मतगणना के दिन तक उसकी सुरक्षा व्यवस्था के सवाल पर श्री खत्री ने जानकारी दी कि गुरुग्राम संसदीय क्षेत्र में 9 विधानसभा क्षेत्र आते हैं और ये सभी विधानसभा क्षेत्र जिला गुरुग्राम, मेवात और रेवाड़ी के अधिकार क्षेत्र में हैं। इसलिए तीनों ही जिले के विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम के रखे जाने की व्यवस्था अलग-अलग जगह पर उन्हीं जिले में की गई है। सभी जिले में अलग-अलग अलग स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। जिला उपायुक्त ने बताया कि ईवीएम की सुरक्षा को लेकर निर्वाचन आयोग की ओर से सुरक्षा के नियम निर्धारित हैं। उन्हीं नियमों का पालन करते हुए ईवीएम स्ट्रांग रूम के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। स्ट्रांग रूम के पास पहला घेरा अर्धसैनिक बलों का होता है जबकि दूसरा घेरा स्थानीय पुलिस का और तीसरा घेरा स्थानीय इंटेलिजेंस का होता है।

इसके साथ ही सुरक्षा व्यवस्था पर कड़ी नजर स्ट्रांग रूम के चारों तरफ 24 घंटे अंदर और बाहर सीसीटीवी कैमरे की निगरानी होती है जबकि आसपास के क्षेत्रों में भी सुरक्षा के इंतजाम बेहद सख्त किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम संसदीय क्षेत्र के सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम की सुरक्षा व्यवस्था भी इन्हीं नियमों को पालन करते हुए की गई है। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बरतने की कोई गुंजाइश नहीं है। खत्री ने बताया कि ईवीएम स्ट्रांग रूम में रखे जाने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी के समक्ष सभी राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों या उनके प्रतिनिधियों की मौजूदगी में सील किया जाता है और चील पर सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों का हस्ताक्षर भी होता है। उनका कहना था कि इस प्रकार की बहु स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था में किसी भी प्रकार का समझौता करने का कोई सवाल नहीं उठता है।

– सतबीर भारद्वाज

Tags : ,EVM