+

राजस्थान में परिजनों ने पुजारी के अंतिम संस्कार करने से किया इंकार, सरकार से की ये मांगे

पुजारी बाबूलाल के परिवार वालों का कहना है कि जब तक हमारी मांग पूरी नहीं होती हम शरीर का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।
राजस्थान में परिजनों ने पुजारी के अंतिम संस्कार करने से किया इंकार, सरकार से की ये मांगे
राजस्थान के करौली जिले में भूमि विवाद में पांच लोगों द्वारा कथित तौर पर एक पुजारी को जिंदा जला दिया, जिनकी बृहस्पतिवार को यहां एसएमएस अस्पताल में मौत हो गयी। पुजारी बाबूलाल के परिवार वालों का कहना है कि जब तक हमारी मांग पूरी नहीं होती हम शरीर का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। हम चाहते हैं कि 50 लाख रुपये मुआवजा और एक सरकारी नौकरी मिले। सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और आरोपियों का समर्थन करने वाले पटवारी और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। 
करौली के एसपी मृदुल कच्छवा के अनुसार, पुलिस ने बुकना गांव में हुए अपराध के 24 घंटे के भीतर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुजारी बाबूलाल वैष्णव ने अपने बयान में कहा कि वह और उनका परिवार गांव में राधा कृष्ण मंदिर की देखरेख कर रहे थे और मंदिर के नाम पर आवंटित भूमि का उपयोग उनके द्वारा खेती के लिए किया जा रहा था। गुरुवार को सुबह करीब 10 बजे आरोपी कैलाश कुछ लोगों के साथ आया और जमीन पर टिन शेड लगाने लगा। जब वैष्णव ने विरोध किया, तो उन्होंने उस पर पेट्रोल छिड़का और आग लगा दी। 
अपराध की गंभीरता को देखते हुए, एसपी ने टीमों का गठन किया है और अपराधियों का पता लगाने के लिए जांच शुरू की है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन इस मामले में अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए उनकी तलाश की जा रही है। 

कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 73 हजार नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 70 लाख के करीब



facebook twitter instagram