+

किसान नेताओं ने प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के लिए वैकल्पिक मार्ग के सुझाव को खारिज किया

पुलिस अधिकारियों ने ट्रैक्टरी रैली को दिल्ली के व्यस्त बाहरी रिंग रोड की बजाय कुंडली-मानेसर पलवल एक्सप्रेस-वे पर आयोजित करने का सुझाव दिया था जिसे किसान यूनियनों ने अस्वीकार कर दिया।
किसान नेताओं ने प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के लिए वैकल्पिक मार्ग के सुझाव को खारिज किया
किसान संगठनों ने आज 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के लिए मार्ग और इंतजामों को लेकर दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश पुलिस के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने ट्रैक्टरी रैली को दिल्ली के व्यस्त बाहरी रिंग रोड की बजाय कुंडली-मानेसर पलवल एक्सप्रेस-वे पर आयोजित करने का सुझाव दिया था जिसे किसान यूनियनों ने अस्वीकार कर दिया।
किसान नेताओं और दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा पुलिस बलों के अधिकारियों के बीच विज्ञान भवन में मुलाकात हुई। सूत्रों ने बताया कि पुलिस अधिकारियों ने किसान नेताओं को रैली के लिए कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे मार्ग का सुझाव दिया जिसे उन्होंने खारिज कर दिया। 

कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर धरना दे रहे किसान ने खाया जहर, इलाज़ के दौरान हुई मौत

बाहरी रिंग रोड विकासपुरी, जनकपुरी, उत्तम नगर, बुराड़ी, पीरागढ़ी और पीतमपुरा जैसे दिल्ली के कई क्षेत्रों से होकर गुजरता है। बैठक में शामिल एक किसान नेता ने बताया कि गुरुवार को पुलिस अधिकारियों के साथ वार्ता का एक और दौर हो सकता है। राष्ट्रीय राजधानी की अलग-अलग सीमाओं पर किसान पिछले 56 दिनों से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। 
एक वरिष्ठ किसान नेता ने कहा कि बैठक के दौरान, ‘‘हमने 26 जनवरी को अपनी ट्रैक्टर रैली के संबंध में पुलिस अधिकारियों के साथ कई बिंदुओं पर चर्चा की।’’ सूत्रों के अनुसार संयुक्त पुलिस आयुक्त (उत्तरी क्षेत्र) एस एस यादव ने दिल्ली पुलिस की ओर से बैठक का समन्वय किया। उन्होंने बताया कि बैठक में हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे। 

होम :
facebook twitter instagram