+

किसानों का केजरीवाल सरकार के खिलाफ आंदोलन का ऐलान : रामवीर सिंह बिधूड़ी

केंद्र सरकार द्वारा तय एमएसपी के अनुरूप भुगतान नहीं किये जाने से नाराज किसानों ने अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में एक सप्ताह बाद केजरीवाल सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ने का ऐलान किया।
किसानों का केजरीवाल सरकार के खिलाफ आंदोलन का ऐलान : रामवीर सिंह बिधूड़ी
दिल्ली की मंडियों में अपनी फसल का केंद्र सरकार द्वारा तय न्यूनतम समर्थन (एमएसपी) के अनुरूप भुगतान नहीं किये जाने से नाराज राजधानी के किसानों ने अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में एक सप्ताह बाद केजरीवाल सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ने का मंगलवार को ऐलान किया। दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) किसान मोर्चा की नरेला जिले में आयोजित खाट महापंचायत में यह निर्णय लिया गया। महापंचायत में शामिल दिल्ली विधानसभा में नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने यह जानकारी दी। 
 बिधूड़ी ने बताया कि किसानों में इस बात को लेकर काफी नाराजगी है कि दिल्ली की मंडियों में बाजरा 1000 रुपये प्रति क्विंटल खरीदा जा रहा है जबकि इसकी तय एमएसपी 2200 रुपये प्रति कि्वंटल है। इसी प्रकार किसानों को धान के बदले 1500 रुपये प्रति क्विंटल की कीमत दी जा रही है जबकि तय एमएसपी 1880 रुपये प्रति क्विंटल है। नेता विपक्ष ने बताया कि किसानों में केजरीवाल सरकार के खिलाफ नाराजगी की सबसे बड़ी वजह यह है कि मुख्यमंत्री ने खुद यह घोषणा की थी कि उनकी सरकार दिल्ली के किसानों को धान पर तय एमएसपी से 897 रुपये प्रति क्विंटल अधिक राशि का भुगतान करेगी जबकि हकीकत यह है कि उन्हें तय एमएसपी भी नहीं दी जा रही है। 
 बिधूड़ी ने कहा कि जमीन की मुआवजा राशि नहीं बढ़ए जाने, गांवों का लाल डोरा नहीं बढ़ने, सिंचाई के लिए खेतों में  ट्यूबवेल लगाने की इजाजत नहीं देने, सस्ती बिजली की आपूर्ति नहीं करने, कृषि उपकरणों जैसे, हैरो, लेवलिंग मशीनों आदि की खरीद पर सब्सिडी नहीं देने, भूमि अधिग्रहण के बाद अल्टरनेटिव रेजिडेंशियल प्लॉटों का आवंटन नहीं करने और गांवों में विकास कार्यों के ठप होने के खिलाफ दिल्ली के किसान एक सप्ताह बाद दिल्ली भाजपा किसान मोर्चा के बैनर तले केजरीवाल सरकर के खिलाफ आन्दोलन शुरू करेंगे। 
उन्होंने बताया कि किसान खाट महापंचायत में किसानों ने ऐतिहासिक कृषि कानूनों का एक स्वर से समर्थन किया और किसानों के हक में यह कदम उठाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार भी व्यक्त किया। बिधूड़ी ने कहा कि नए कृषि कानूनों से किसान खुशहाल होंगे, उनकी आय दोगुनी होगी, रोजगार के अवसर बढ़गे और नई तकनीकों के इस्तेमाल से कृषि उत्पादन में भी भारी वृद्धि होगी। 
दिल्ली प्रदेश भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष विनोद सहरावत ने इस किसान महापंचायत का आयोजन किया जबकि चौधरी रणवीर प्रधान ने इसकी अध्यक्षता की। पूर्व विधायक नीलदमन खत्री और निगम पार्षद सरिता खत्री भी उपस्थित थे।
facebook twitter instagram