+

जम्मू कश्मीर में भाजपा के सरकार बनाने का संकल्प फारूक अब्दुल्ला ने खारिज किया

केन्द्र शासित प्रदेश में सरकार बनाने के भारतीय जनता पार्टी की जम्मू कश्मीर इकाई के संकल्प लेने के एक दिन बाद नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने सोमवार को इसे खारिज करते हुये कहा, ‘‘मैं देखूंगा कि यह कैसे होता है।’’
जम्मू कश्मीर में भाजपा के सरकार बनाने का संकल्प फारूक अब्दुल्ला ने खारिज किया
केन्द्र शासित प्रदेश में सरकार बनाने के भारतीय जनता पार्टी की जम्मू कश्मीर इकाई के संकल्प लेने के एक दिन बाद नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने सोमवार को इसे खारिज करते हुये कहा, ‘‘मैं देखूंगा कि यह कैसे होता है।’’ अब्दुल्ला ने खुद को और अन्य नेताओं को चुनाव के समय कथित तौर पर ‘‘पाकिस्तानी’’ करार दिये जाने के लिये भारतीय जनता पार्टी की आलोचना की और लोगों से ‘‘धर्म एवं घृणा की राजनीति’’ करने वालों से दूर रहने का आग्रह किया ।
नेशनल कांफ्रेंस मुख्यालय में यहां अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुये अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘वे (भाजपा) केवल शोर मचा रहे हैं कि वे लोग सत्ता में आ रहे हैं । वे कभी नहीं आयेंगे ।’’ गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के रियासी जिले के कटरा में भारतीय जनता पार्टी की जम्मू कश्मीर इकाई की कार्यकारी समिति की दो दिवसीय बैठक हुयी थी । इस बैठक में पार्टी ने यह संकल्प लिया कि जब कभी विधानसभा के चुनाव होंगे केंद्र शासित प्रदेश में यह अपने दम पर सरकार का गठन करेगी । 
अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘वह कहते हैं कि वह (अगली) सरकार का गठन करेंगे। मैं देखूंगा कि यह कैसे होने जा रहा है। क्या वे आसमान से आयेंगे । हम उनके रास्ते में खड़े रहेंगे और आप हमें कैसे हटायेंगे । नेशनल कांफ्रेंस का बलिदान देने का इतिहास रहा है। पार्टी, आवाम के दिलों में बसती है ।’’ बिना किसी का नाम लिये लेकिन स्पष्ट रूप से भाजपा का हवाला देते हुये उन्होंने कहा कि वह चुनाव के लिये लोगों के बीच घृणा फैला रहे हैं । अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘जब भी चुनाव होता है, हमें पाकिस्तानी करार दिया जाता है बावजूद इसके, सचाई यह है कि हमने भारतीय झंडे को ऊंचा रखने के लिये अपना जीवन लगा दिया और हमारे हजारों कार्यकर्ताओं एवं नेताओं ने अपने जीवन का बलिदान कर दिया । हालांकि, जैसे ही चुनाव समाप्त होता है, हम भारतीय हो जाते हैं....मैं आश्चर्यचकित हूं ।’’ 
धर्म और घृणा की राजनीति से दूर रहने की पार्टी कार्यकर्ताओं को सलाह देते हुये अब्दुल्ला ने कहा कि सभी धर्म एक समान हैं और कोई धर्म खराब नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘व्यक्ति खराब होता है न कि धर्म । अगर हम सच्चे अर्थों में अपने धर्म को जानते हैं तो हम किसी अन्य धर्म की आलोचना नहीं करेंगे ... हमें अपने बच्चों को धर्म का सही ज्ञान सिखाना होगा ।’’ अब्दुल्ला ने जिला विकास परिषद के सदस्यों से खास तौर से महिलाओं से सबकी भलाई के लिये प्रशासन के साथ काम करने के लिये कहा । 
facebook twitter instagram