+

शहला राशिद पर पिता ने लगाया देशविरोधी होने का आरोप, डीजीपी से की बेटी के फंड स्रोतों की जांच की मांग

अब्दुल आर शोरा ने जम्मू-कश्मीर के डीजीपी को एक चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उन्होंने दावा किया कि उन्हें अपनी बेटी शहला, उनके सुरक्षा गार्ड, बहन और उनकी मां से जान का खतरा है।
शहला राशिद पर पिता ने लगाया देशविरोधी होने का आरोप, डीजीपी से की बेटी के फंड स्रोतों की जांच की मांग
जेएनयू की छात्रनेता और कार्यकर्ता शहला राशिद के पिता अब्दुल राशिद शोरा ने बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। पिता ने बेटी से खुद की जान का खतरा बताते हुए पुलिस को खत लिख आरोप लगाया है कि उनकी बेटी देशविरोधी गतिविधियों में शामिल है। हालांकि, शहला ने पिता द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को खारिज किया है। जिसके के बाद पिता का बयान सामने आया है।
शेहला रशीद के पिता अब्दुल आर शोरा का कहना है कि शेहला ने अमेरिका जाने के बाद एक पार्टी बनाई थी। उस पार्टी का सारा फंड एंटी नेशनल फोर्स से आ रहा है, कोई राष्ट्रीय पार्टी उन्हें फंड नहीं देगी। मैंने डीजी से इस पैसे के सोर्स को पता लगाने की अपील की है, साथ ही अपनी सुरक्षा को लेकर कहा है।
पिता के आरोप पर शेहला ने ट्विटर पर बयान जारी करते हुए कहा कि परिवार में ऐसा नहीं होता, जैसा मेरे पिता ने किया है। उन्होंने मेरे साथ-साथ मेरी मां और बहन पर भी बेबुनियाद आरोप लगाए हैं। बेटी के इन आरोपों पर अब्दुल आर शोरा ने कहा, मुझे घरेलू हिंसा की शिकायत के बाद कोर्ट के आदेश से एक दिन में मेरे घर में रहने के अधिकार में बहाल कर दिया गया। अगर मैं एक हिंसक व्यक्ति हूं, तो निश्चित रूप से मेरे खिलाफ एफआईआर की एक कड़ी होनी चाहिए? लेकिन वहाँ नहीं हैं।
बीते दिन अब्दुल आर शोरा ने जम्मू-कश्मीर के डीजीपी को एक चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उन्होंने दावा किया कि उन्हें अपनी बेटी शहला, उनके सुरक्षा गार्ड, बहन और उनकी मां से जान का खतरा है। शोरा ने दावा किया, ‘‘उसने (शहला) कश्मीर में राजनीति में शामिल होने के लिए पूर्व विधायक इंजीनियर राशिद और कारोबारी जहूर वताली से तीन करोड़ रुपये लिए थे।’’ 
आतंकवाद के वित्तपोषण में कथित संलिप्तता के लिए राशिद और वताली को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पिछल साल गिरफ्तार किया था। जेएनयू की पूर्व छात्र नेता शहला राजनीति में शामिल हो गयी थीं और आइएएस टॉपर शाह फैसल द्वारा शुरू जेके पॉलिटिकल मूवमेंट की संस्थापक सदस्य बनी थीं। 
शोरा ने शहला द्वारा चलाए जाने वाले गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ), और अपनी बेटियों और उनकी मां के बैंक खातों की जांच की भी मांग की। हालांकि, इसके जवाब में शहला ने एक ट्वीट कर कहा, ‘‘आप में से कई लोगों ने मेरे पिता द्वारा मुझ पर, मेरी मां और बहन पर लगाए गए आरोपों का वीडियो देखा होगा। कम शब्दों में और स्पष्ट तौर पर कहूं तो वह अपनी पत्नी को पीटने वाले, गाली-गलौज करने वाले शख्स हैं। हमने उनके खिलाफ कदम उठाने का फैसला किया और इसके जवाब में उन्होंने यह हथकंडा अपनाया।’’ शहला ने आरोपों को ‘‘बेबुनियाद और बकवास’’ बताया।
facebook twitter instagram