भारत में हुआ पहला 5जी वीडियो कॉल

स्वीडिश टेलीकॉम गियर मेकर एरिक्सन ने मंगलवार को यहां इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) में मिलीमीटरवेव (एमएमवेव) पर देश में पहला 5जी वीडियो कॉल प्रदर्शित (डेमोंस्ट्रेट) करने के लिए चिपमेकर क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज के साथ हाथ मिलाया। 

स्नैपड्रैगन 850 मोबाइल प्लेटफॉर्म पर स्नैपड्रैगन एक्स 50 5जी मॉडम-आरएफ सिस्टम और एरिक्सन के 5जी प्लेटफॉर्म के साथ एक स्मार्टफोन का उपयोग करके यह डेमोस्ट्रेशन किया गया। 

एरिक्सन साउथ ईस्ट एशिया, ओसियाना एंड इंडिया के प्रमुख नुंजियो मर्तिलो ने कहा, 'भारत का 5जी दिशा की यात्रा में आज यह एक महत्वपूर्ण कदम है। 5जी के वास्तविक लाभों को साझेदारी और सहयोग के माध्यम से कैसे प्राप्त किया जा सकता है, 5जी वीडियो कॉल और क्वालकॉम टेक्नोलॉजी के साथ हमारा दीर्घकालिक सहयोग इस बात का सबूत है।'
 
उत्तर अमेरिका में मिलीमीटरवेव (एमएमवेव) 5जी नेटवर्क्‍स कमर्शल है और यह जापान और कोरिया सहित कई उन्नत देशों में शुरू किया जा रहा है। यहां 5जी शुरू करने के लिए 28 गीगाहट्र्ज और 39 गीगाहट्र्ज स्पेक्ट्रम बैंड पर विचार किया जा रहा है। 

इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) में 5जी वीडियो कॉल करने के लिए 28 गीगाहट्र्ज स्पेक्ट्रम को इस्तेमाल किया गया। 

डेमोस्ट्रेशन के एक हिस्से के रूप में मर्तिलो ने आईएमसी 2019 की साइट पर क्वालकॉम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के उपाध्यक्ष राजन वागड़िया को एरिक्सन बूथ पर एक वीडियो कॉल किया। 

Tags : पटना,Patna,सुशील कुमार,Punjab Kesari,stunning,forgery,Millionaire,mask company ,5G video call,India,Ericsson,Swedish,Qualcomm Technologies,India Mobile Congress,country