+

मोहाली विस्फोट मामले में पांच लोगों को किया गिरफ्तार! इस कांड के पीछे ISI का हाथ, जानें- पूरा मामला

पंजाब पुलिस ने अपने मोहाली कार्यालय में आरपीजी हमले के सिलसिले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।
मोहाली विस्फोट मामले में पांच लोगों को किया गिरफ्तार! इस कांड के पीछे ISI का हाथ, जानें- पूरा मामला
पंजाब पुलिस ने अपने मोहाली कार्यालय में आरपीजी हमले के सिलसिले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस मामले में आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल एवं पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) की सांठगांठ की ओर इशारा किया है।
डीजीपी ने कहा कि मुख्य साजिशकर्ता...
पुलिस महानिदेशक वी के भावरा ने शुक्रवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि छठा आरोपी एक अन्य मामले में पुलिस हिरासत में है। उन्होंने कहा कि घटना के पीछे की साजिश का पता लगा लिया गया है और पाकिस्तान की आईएसआई के इशारे पर आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल और गैंगस्टरों के बीच सांठगांठ का मामला सामने आया है। डीजीपी ने कहा कि मुख्य साजिशकर्ता तरनतारन निवासी लखबीर सिंह गैंगस्टर से आतंकवादी बने हरविंदर सिंह रिंडा का करीबी सहयोगी है। माना जाता है कि रिंडा पाकिस्तान में है। भवरा ने कहा कि गिरफ्तार किए गए पांच आरोपियों में विस्फोट करने वालों को आश्रय, साजो-सामान और हथियार मुहैया कराने वाले शामिल हैं। उन्होंने कहा कि रॉकेट चालित ग्रेनेड (आरपीजी) दागने में शामिल तीन लोग अब भी वांछित हैं।
मुख्यालय पर एक रॉकेट से संचालित ग्रेनेड दागा गया
डीजीपी ने कहा कि इस मामले का एक आरोपी निशान सिंह पहले से ही किसी अन्य मामले में फरीदकोट पुलिस की हिरासत में है। उन्होंने कहा कि इस मामले में भी उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। तरनतारन निवासी निशान सिंह कई आपराधिक मामलों का सामना कर रहा है, जिसमें से एक हत्या के प्रयास से संबंधित है और दूसरा स्वापक औषधि एवं मन:प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत है। सोमवार को एक दुस्साहसिक हमले में, मोहाली के सेक्टर 77 स्थित राज्य पुलिस के खुफिया विंग मुख्यालय पर एक रॉकेट से संचालित ग्रेनेड दागा गया। विस्फोट के कारण इमारत की एक मंजिल की खिड़की के शीशे टूट गए। घटना में किसी को चोट नहीं आई।
facebook twitter instagram