+

राजनीति में शामिल होने के सवालों पर पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने दिया ये जवाब

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के बाद उनके राजनीति में आने की अटकले तेज हो गई थीं। यहां तक की उनके आगामी विधानसभा चुनाव में उतरे की संभावनाए जताई गई थी।
राजनीति में शामिल होने के सवालों पर पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने दिया ये जवाब
बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के बाद उनके राजनीति में आने की अटकले तेज हो गई थीं। यहां तक की उनके आगामी विधानसभा चुनाव में उतरे की संभावनाए जताई गई थी। राजनीति से जुड़ी सभी अटकलों पर पूर्व  डीजीपी गुप्तेश्वर ने बुधवार को विराम लगते हुए अपना बयान दिया है।
गुप्तेश्वर पांडेय ने राजनीति से जुड़े सवालों पर बोलते हुए कहा, मैं अभी तक किसी भी राजनीतिक दल में शामिल नहीं हुआ हूं और मैंने अभी तक इस पर कोई निर्णय नहीं लिया है। जहां तक सामाजिक कार्यों की बात है, मैं इसे राजनीति में प्रवेश किए बिना भी कर सकता हूं।
बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP) गुप्तेश्वर पांडे ने मंगलवार को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) लेने की घोषणा की। राज्यपाल फागू चौहान ने मंगलवार देर रात पांडे का वीआरएस स्वीकार कर लिया है। पांडे की जगह एस के सिंघल को डीजीपी का चार्ज दिया गया है। 

डिप्टी सीएम सुशील मोदी बोले- वर्ष 2005 से पहले अफ्रीकी देशों से भी खराब था बिहार का हाल

सेवानिवृत्ति की घोषणा के बाद जब गुप्तेश्वर पांडे से राजनीति में जाने के बारे में पूछा था तो उन्होंने कहा था कि ''क्या रिटायरमेंट के बाद राजनीति में जाना पाप है? कदाचार है? या गलत है? राजनीति के कारण ही कार्यपालिका है, विधायिका है।' '\माना जाता है कि बिहार सरकार ने गुप्तेश्वर पांडे का वीआरएस का आवेदन केंद्र को मंगलवार की शाम को ही भेजा था। हालांकि, पांडे के इस्तीफे और वीआरएस की खबर पिछले कई दिनों से चल रही थी।
facebook twitter instagram