+

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा बोले- IPL का धोनी के अंतरराष्ट्रीय करियर से कुछ लेना-देना नहीं

नेहरा ने कहा, मेरे लिए धोनी का खेल कभी नीचे नहीं आ सकता। भारत के लिए जो आखिरी मैच उन्होंने खेला था, उसमें जब तक धोनी मैदान पर थे, भारत के फाइनल में पहुंचने की संभावना थी और जैसे ही वो रन आउट हुए, सारी उम्मीदें खत्म हो गई।
पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा बोले- IPL का धोनी के अंतरराष्ट्रीय करियर से कुछ लेना-देना नहीं
भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन का महेंद्र सिंह धोनी के अंतर्राष्ट्रीय करियर से कोई लेना देना नहीं है। धोनी ने अपना आखिरी मैच पिछले साल विश्व कप में सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। तब से वह टीम से आराम के नाम से बाहर चल रहे हैं। 

ऐसा कहा जा रहा था कि इस साल होने वाले आईपीएल में धोनी का प्रदर्शन इसी साल के अंत में होने वाले टी-20 विश्व कप में उनके चुने जाने को लेकर फैसला करेगा। आईपीएल मार्च में होना था जो कोविड-19 के कारण स्थगित हो गया। टी-20 विश्व कप भी कोविड-19 के कारण इस साल नहीं होगा, इसे भी स्थगित कर दिया गया है।

अब आईपीएल सितंबर-नवंबर में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेला जाना है। नेहरा ने कहा, जहां तक धोनी के अंतर्राष्ट्रीय करियर की बात है तो मुझे नहीं लगता कि आईपीएल का इससे कोई लेना-देना है। अगर आप चयनकर्ता हो, कप्तान हो, कोच हो तो सबसे अहम चीज है कि अगर वह खेलने को तैयार हैं तो वह मेरी सूची में सबसे पहले होंगे। उन्होंने कहा, जहां तक मैं धोनी को जानता हूं। धोनी ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच खुशी-खुशी खेल लिया है, उन्हें कुछ साबित करने की जरूरत नहीं है।

बाएं हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, मीडिया के लोग होने के नाते हम इस तरह की चीजों पर चर्चा कर सकते हैं क्योंकि उन्होंने संन्यास की घोषणा नहीं की है, इसलिए मुझे लगता है कि वह इस पर फैसला लेंगे और वही बता सकते हैं कि उनके दिमाग में क्या चल रहा है। नेहरा ने विश्व कप सेमीफाइनल में धोनी का जिक्र किया और कहा कि जब तक वो मैदान पर थे, भारत के जीतने की संभावनाएं थीं।

नेहरा ने कहा, मेरे लिए धोनी का खेल कभी नीचे नहीं आ सकता। भारत के लिए जो आखिरी मैच उन्होंने खेला था, उसमें जब तक धोनी मैदान पर थे, भारत के फाइनल में पहुंचने की संभावना थी और जैसे ही वो रन आउट हुए, सारी उम्मीदें खत्म हो गईं। उन्होंने कहा, मुझे नहीं लगता कि इस आईपीएल से धोनी के रुतबे में कोई अंतर आएगा। मुझे नहीं लगता कि आईपीएल जैसा टूर्नामेंट धोनी के चयन का पैमाना होना चाहिए। यह सिर्फ बात करने का एक मुद्दा हो सकता है।

facebook twitter