+

सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट के मामले में पूर्व मंत्री को सजा

सड़क निर्माण की गुणवत्ता के मुद्दे पर छह साल पहले गवांडे का लोक निर्माण विभाग के एक अधिकारी के साथ बहस करने और फिर मारपीट करने का आरोप था और उनके खिलाफ भारतीय दंड सहिंता की धारा 353 के तहत मामला दर्ज किया गया था।
सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट के मामले में पूर्व मंत्री को सजा
अकोला : महाराष्ट्र के अकोला जिले की एक अदालत ने एक सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट करने के मामले में मंगलवार को प्रदेश के एक पूर्व मंत्री गुलाबराओ गवांडे को तीन महीने कैद की सजा सुनाई है । सत्र न्यायाधीश मनीष गनोरकर ने मंत्री को 2500 रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है । गवांडे जिले के अकोट से विधायक रहे हैं । 

सड़क निर्माण की गुणवत्ता के मुद्दे पर छह साल पहले गवांडे का लोक निर्माण विभाग के एक अधिकारी के साथ बहस करने और फिर मारपीट करने का आरोप था और उनके खिलाफ भारतीय दंड सहिंता की धारा 353 के तहत मामला दर्ज किया गया था। अदालत ने मामले में एक अन्य आरोपी तथा पूर्व विधायक गजानन डालु को बरी कर दिया है । इस मामले में लोक निर्माण विभाग के तत्कालीन उप अभियंता मनोज बैस ने 31 मई 2013 को मंत्री और उनके समर्थकों खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज कराया था। 

facebook twitter