मैरी कॉम समेत चार भारतीयों की नजरें स्वर्ण पदक पर

उलान उदे : एम सी मैरी कॉम समेत चार भारतीय मुक्केबाज शनिवार को जब महिला विश्व चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में उतरेंगी तो उनका इरादा अपने पदक का रंग बेहतर करने का होगा। तीसरी वरीयता प्राप्त मैरी कॉम (51 किलो) ने रिकार्ड आठवां विश्व चैम्पियनशिप पदक पक्का कर लिया है। उनका सामना तुर्की की यूरोपीय चैम्पियन बुसानाज काकिरोग्लू से होगा। पहली बार खेल रही मंजू रानी (48 किलो), पिछले सत्र की कांस्य पदक विजेता और तीसरी वरीयता प्राप्त लवलीना बोरगोहेन (69 किलो) और जमुना बोरो (54 किलो) भी सेमीफाइनल में पहुंच गई थी। 

रानी का सामना अब थाईलैंड की सी रकसात से होगा जिसने पांचवीं वरीयता प्राप्त यूलियानोवा असेनोवा से होगा। वहीं बोरो शीर्ष वरीयता प्राप्त एशियाई खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता हुआंग सियाओ वेन से होगा। बोरगोहेन की टक्कर चीन की यांग लियू से होगी जिसने शीर्ष वरीयता प्राप्त चेन निएन चिन को मात दी। राष्ट्रीय कोच मोहम्मद अली कमर ने कहा कि सभी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। 

हम उम्मीद करते हैं कि ये सभी फाइनल में पहुंचेंगी। उन्होंने कहा कि कोई कभी भी संतुष्ट नहीं हो सकता । हमें खुशी है कि 2018 सत्र से हमारा प्रदर्शन खराब नहीं हुआ लेकिन यह निराशाजनक है कि हम उसे बेहतर नहीं कर सके। भारत ने इस चैम्पियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2006 में किया जब चार स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य भारत की झोली में आये थे। मैरी कॉम ने उस साल भी स्वर्ण पदक जीता था।
Tags : पटना,Patna,law,Ravi Shankar Prasad,Union Minister,Dalit,Punjab Kesari ,Mary Kom,boxers,Indians,semi-finals,Indian,Women's World Championship