+

73वें गणतंत्र दिवस पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्रीमती चंद्रकांता जी और डा.नरेश चौधरी को किया सम्मानित

जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने 73वें गणतन्त्र दिवस के अवसर पर सर्वप्रथम कैम्प कार्यालय में तत्पश्चात कलक्ट्रेट में झण्डारोहण किया गया। उन्होंने गणतंत्र दिवस के अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दी
73वें गणतंत्र दिवस पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्रीमती चंद्रकांता जी और डा.नरेश चौधरी को किया सम्मानित
जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने 73वें गणतन्त्र दिवस के अवसर पर सर्वप्रथम कैम्प कार्यालय में तत्पश्चात कलक्ट्रेट में झण्डारोहण किया गया। उन्होंने गणतंत्र दिवस के अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दी। कलक्ट्रेट में झण्डारोहण के पश्चात राष्ट्रगान- ’’जन गण मन...’’ तथा राष्ट्रगीत-’’वन्दे मातरम ’’ गाया गया। इसके बाद जिलाधिकारी ने सभी कार्मिकों को भारतीय गणतंत्र का संकल्प-’’हम, भारत के लोग, भारत को एक’( सम्पूर्ण प्रभुत्व-सम्पन्न समाजवादी पंथ निरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य) बनाने के लिये तथा उसके समस्त नागरिकों को: सामाजिक, आर्थिक...आत्मार्पित करते हैं।’’ दिलाया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में जिलाधिकारी ने कहा कि 26 जनवरी,1950 को हमारा देश गणतंत्र घोषित हुआ था। उसी दिन से हमारा भारतीय संविधान लागू हुआ था। संविधान की प्रस्तावना का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि इसमें उल्लिखित शब्द केवल चन्द शब्द नहीं हैं, इनके बहुत गूढ़ अर्थ हैं। उन्होंने कहा कि अगर आप ध्यान से देखें, तो हमारा भविष्य का भारत कैसा होगा, किन किन विषयों को लेकर हमें आगे बढ़ना है, किस तरह की आजादी हमें चाहिये, किस तरह के न्याय की बात उसमें कहीं गयी है, शासन व्यवस्था कैसी हो, ये सब पूरे संविधान का सार प्रस्तावना में है। इसीलिये इसे संविधान की आत्मा कहा जाता है। विनय शंकर पाण्डेय ने कहा कि गणतंत्र दिवस मनाने के पीछे एक निहितार्थ होता है। उन्होंने कहा कि 100 से 150 वर्ष तक आजादी का जो संघर्ष चला उसमें, हमारे शहीदों का, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का, जो योगदान रहा है, उस पल को हम इस दिन याद करते हैं। साथ ही साथ यह भी सुनिश्चित करते हैं कि उनकी इस देष को संवारने की, इस देश के भविष्य को लेकर उनके मन में क्या था, उस संकल्प को भी पूरा करने के लिये याद करने का एक क्षण होता है। इस मौके पर आनन्दमयी सेवा सदन की संगीत अध्यापिका तथा छात्राओं ने राष्ट्रीय गान, राष्ट्रीय गीत तथा देष भक्ति से परिपूर्ण गीत-’’जिन्होंने दी आजादी...दिवस गणतंत्र ये अपना खुषी से मनाते हैं।’’ गाये। जिलाधिकारी ने उनके प्रस्तुतीकरण की प्रषंसा की तथा उन्हें पुरस्कृत किया। जिलाधिकारी को कैम्प कार्यालय में पुलिस की टुकड़ी द्वारा गार्ड आफ ऑनर दिया गया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) वीर सिंह बुदियाल, अपर जिलाधिकारी (प्रशाासन) पीएल शाह, भूमि अध्याप्ति अधिकारी संगीता कनौजिया, उप जिलाधिकारी गोपाल राम विनवाल, मुख्य कोषाधिकारी नीतू भण्डारी, सहायक निर्वाचन अधिकारी हरी्रा रावत, आपदा प्रबन्धन अधिकारी मीरा कन्तूरा सहित सभी विभागों के अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित थे। 
डा. नरेश चौधरी को उत्कृष्ट कार्यों के लिए विशेष रूप से सम्मानित
जनपद हरिद्वार के रोशनाबाद स्थित पुलिस लाइन, परेड ग्राउंड में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य पर भव्य परेड के उपरांत जिला प्रशासन की ओर से जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे द्वारा ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कार्यरत प्रोफेसर, विभागाध्यक्ष एनाटॉमी, इंडियन रेड क्रॉस के सचिव डा. नरेश चौधरी को उत्कृष्ट कार्यों के लिए विशेष रूप से सम्मानित किया गया। डा. नरेश चौधरी को पुलिस उपमहानिरीक्ष/ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने भी विशेष रूप से बधाई दी।
होम :
facebook twitter instagram