+

फ्रांसीसी मैगजीन शार्ली हेब्डो ने पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों को एकबार फिर किया प्रकाशित

फ्रांस की सैटायरिकल मैगजीन शार्ली एब्डो ने पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों को एकबार फिर से प्रकाशित किया है, जिनकी वजह से यह मैगजीन साल 2015 में हुए आतंकी हमले का निशाना बनी थी।
फ्रांसीसी मैगजीन शार्ली हेब्डो ने पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों को एकबार फिर किया प्रकाशित
फ्रांस की सैटायरिकल मैगजीन शार्ली एब्डो ने पैगंबर मोहम्मद के कार्टूनों को एकबार फिर से प्रकाशित किया है, जिसकी वजह से यह मैगजीन 2015 में आतंकी हमले का निशाना बनी थी। इन कार्टूनों को ऐसे वक्त में प्रकशित किया गया है जब एक दिन बाद ही 2015 में मैगजीन शार्ली एब्डो के दफ्तर पर आतंकी हमला में मदद करने वाले 14 लोगों पर मुकदमा शुरू होने वाला है।
जानकारी के लिए बता दें, मैगजीन शार्ली एब्डो पर हुए आतंकी हमले में मैगजीन के कार्टूनिस्टों समेत 12 लोगों की मौत हो गई थी। इसके कुछ दिन बाद पैरिस में इसी से जुड़ा एक अन्य हमला हुआ था जिसमें पांच लोगों की जान चली गई थी। इस हमले के बाद पूरे फ्रांस में जिहादी हमलों का जैसे सिलसिला शुरू हो गया था। इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी यमन के सक्रिय अल कायदा  संबद्ध की एक शाखा ने ली थी। 
पत्रिका के डायरेक्टर लौरेंट रिस सौरीस्यू ने संपादकीय में लिखा है- हम कभी झुकेंगे नहीं, कभी हार नहीं मानेंगे। चार्ली हेब्दो के नए एडिशन में पहले पेज पर दर्जनों कार्टूनों को प्रकाशित किया गया है, जिनमें मोहम्मद साहब का कार्टून भी शामिल है। कार्टून बनाने वाले जीन काबूट 2015 के आतंकी हमले में मारे गए थे। कार्टून के साथ मैगजीन ने हैडलाइन दी है, 'यह सब, बस उसी के लिए।'
facebook twitter