ई-सिगरेट-वेपिंग उत्पादों पर लगे पूर्ण प्रतिबंध

नई दिल्ली : तंबाकू उगाने वाले किसानों ने सरकार से ई-सिगरेट पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने की मांग की है। किसानों का कहना है कि ई-सिगरेट कंपनियां नीति निर्माताओं को भ्रमित कर रहे हैं और भ्रम पैदा कर रहे हैं कि ई-सिगरेट और वेपिंग उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने से किसानों को राजस्व का जबरदस्त नुकसान होगा। देश में तंबाकू का कुल उत्पादन 76.1 करोड़ किलोग्राम होता है। इनमें से एफसीवी तंबाकू की हिस्सेदारी 28.4 करोड़ किलोग्राम है। 

इनमें से 23.2 करोड़ किलोग्राम का निर्यात किया जाता है। एफसीवी तंबाकू मुख्य रूप से कर्नाटक एवं आंध्र प्रदेश में उगाया जाता है और यहां से भारी मात्रा में इसका निर्यात किया जाता है। बचे हुए तंबाकू का इस्तेमाल बिड़ी और धुआं रहित तंबाकू के बनाने में किया जाता है जिसकी खपत देश के अंदर होती है। तंबाकू किसानों का कहना है कि ई-सिगरेट के व्यापार को भारत में फलने-फूलने के कारण तंबाकू किसानों पर विनाशकारी प्रभाव पड़ेगा।
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops