घुसपैठ की फिराक में बैठे आतंकवादियों से निपटने को पूरी तरह तैयार हैं : बीएसएफ अधिकारी

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को पाकिस्तान से आतंकवादियों के जम्मू-कश्मीर में दाखिल होने की फिराक में होने की जानकारी देते हुए बल के किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार होने का आश्वासन दिया। 

जम्मू फ्रंटियर बीएसएफ के महानिरीक्षक एन. एस. जामवाल ने कहा कि बीएसएफ सैनिकों को पाकिस्तान स्थित आतंवादियों के ड्रोन के जरिए हथियार गिराने के खतरे से निपटने के लिए भी प्रशिक्षित किया जा रहा है। हालांकि अभी तक ऐसी किसी घटना की कोई खबर नहीं है। 

उन्होंने कहा, ‘‘ जम्मू सीमा के पास हमारे सैनिकों के समक्ष पेश होने वाली प्रमुख चुनौती आतंकवादियों की सशस्त्र घुसपैठ, सुरंग बनाना, ‘स्नाईपिंग’ और ड्रोन से अंजाम दी जाने वाली वारदातें हैं, हालांकि ऐसी कोई घटना अभी तक यहां हुई नहीं है। ’’ 

उन्होंने कहा कि ठंड की शुरुआत में धुंध और पहाड़ी इलाकों में बर्फ के कारण दृश्यता कम होने के कारण केन्द्र शासित राज्य में आतंकवादियों के घुसपैठ के प्रयासों को नाकाम करने के लिए सभी एहतियाती कदम उठा लिए गए हैं। 

जामवाल ने कहा, ‘‘ हम किसी भी चुनौती का सामना करने को तैयार हैं। नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा विशेषकर जम्मू के कठुआ जिले में संघर्ष विराम उल्लंघन की वारदातें बढ़ी हैं। ऐसी चीजों का कोई असर नहीं होगा क्योंकि ठंड से निपटने और हर कार्रवाई का हम मुंह तोड़ जवाब देने को तैयार है।’’ 

उन्होंने कहा कि ड्रोन से हालांकि कोई बड़ा खतरा नहीं है और ऐसी किसी घटना की कोई खबर भी नहीं है लेकिन सैनिकों को ऐसी गतिविधियों की संभावना के प्रति संवेदनशील बनाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए गए हैं। 

बीएसएफ के आईजी ने कहा, ‘‘ यह एक चुनौती है, क्योंकि हमने पड़ोसी देशों द्वारा हथियार गिराने की वारदातें देखीं है। हम सतर्क हैं और (क्षेत्र में कोई भी ड्रोन देखे जाने पर) उचित कार्रवाई की जाएगी।’’ 

सीमा पर मौजूद आतंकवादियों के शिविरों की संख्या पर सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा कि ऐसे आंकड़े अधिकतर अटकलों पर आधारित होते हैं। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘ हालांकि, आतंकवादी हमारी और दाखिल होने की फिराक में हैं। हम भी उनकी घुसपैठ की कोशिश का जवाब देने को तैयार हैं। आप निश्चिंत रहें।’’ 

बीएसएफ अधिकारी ने ‘इंटर फ्रंटियर रेसलिंग कॉम्पिटिशन’ के समापन समारोह के मौके पर उन्होंने यह बात कही। 
Tags : चीनी,Chinese,Punjab Kesari,GST Council,जीएसटी काउंसिल,जीएसटीएन,gstn,Karnataka elections,कर्नाटक चुनाव ,BSF,terrorists,officer,Pakistan,Jammu,Kashmir