+

गणपति उत्सव 2020 : कोरोना संकट के चलते इस साल नहीं होंगे लालबाग के राजा के दर्शन

गणपति उत्सव 2020 : कोरोना संकट के चलते इस साल नहीं होंगे लालबाग के राजा के दर्शन
कोरोना महामारी का असर देश में हर्षोल्लास से मनाए जाने वाले कई पारंपरिक उत्सवों पर पड़ रहा है। इसी चरण में महाराष्ट्र के सबसे मशहूर गणपति मंडलों में शुमार लालबाग इस बार गणपति विसर्जन का उत्सव नहीं मनाएगा। इससे पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे गणपति उत्सव को सादगी से मनाये जाने की बात कह चुके है।
मुंबई के लालबागचा राजा गणेशोत्सव मंडल ने इस बार कोरोना महामारी के मद्देनजर गणेशोत्सव आयोजित नहीं करने का फैसला किया है। इसके स्थान पर एक रक्त और प्लाज्मा दान शिविर स्थापित किया जाएगा। लालबागचा राजा की गणेश पूजा अपनी भव्यता के लिए प्रसिद्ध है।
लालबाग के गणपति के दर्शन के लिए आम लोगों के अलावा बड़ी-बड़ी हस्तियां भी पहुंचती है। लालबाग के गणपति हर बार अपनी खासियत को लेकर चर्चा में रहती है। लालबागचा राजा सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडल की स्थापना वर्ष 1934 में हुई थी। यह मुंबई के लालबाग, परेल इलाके में स्थित हैं।
देश में फैले माहमारी के प्रकोप को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस वर्ष गणपति उत्सव सादगी से मनाने का आह्वान किया। इसके साथ ही उन्होंने गणेश मंडलों को सामाजिक कल्याण कार्यक्रम चलाने को कहा। गणपति उत्सव महाराष्ट्र में बड़ी धूमधाम से साथ मनाया जाता है। मुंबई और राज्य के अन्य स्थानों में विभिन्न मंडलों द्वारा स्थापित पंडालों में हजारों भक्त आते हैं।
मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है और इसलिए गणेश उत्सव को पारंपरिक धूमधाम और उल्लास के साथ मनाना संभव नहीं होगा। इसलिए त्योहार के दौरान कोई भीड़ या जुलूस नहीं होना चाहिए। इस साल गणेश चतुर्थी 22 अगस्त को है और यह 10 दिवसीय उत्सव होता है।

facebook twitter