गाजीपुर लैंडफिल साइट से खत्म होगा कूड़ा

नई दिल्ली : पूर्वी दिल्ली नगर निगम की ओर से गाजीपुर लैंडफिल साइट पर स्थापित किए गए ट्रॉमल-कम-बैलेस्टिक मशीन का गुरुवार को लोकसभा सांसद गौतम गंभीर ने उद्घाटन किया। बता दें कि ट्राॅमल-कम-बैलेस्टिक मशीन में चार भाग है, जिनसे लगभग 640 मीट्रिक टन कूड़े को प्रतिदिन निस्तारित किया जाएगा। 

इस मशीन में लगे बैलेस्टिक सेपरेटर से कूड़े को तीन भागों में अलग किया जाएगा। प्रथम वर्ग में हल्के अपशिष्ट जैसे प्लास्टिक, पाॅलीथिन तथा कपड़े आदि, दूसरे वर्ग में भारी अपशिष्ट जैसे शीशा एवं धातु से बने पदार्थ एवं तीसरे वर्ग में अन्य छोटे पदार्थों को अलग-अलग किया जाएगा। इसके बाद कुछ अपशिष्ट को ऊर्जा निर्माण हेतु एवं कुछ को शास्त्री पार्क स्थित सी एंड डी प्लांट भेजा जाएगा। 

जिससे ईंटें, टाइल्स् आदि उपयोगी वस्तुओं का निर्माण होगा। इनके अलावा जो अपशिष्ट बचेगा उसे इस नई तकनीक पर आधारित इस मशीन द्वारा अपशिष्ट को निस्तारित करके मिट्टी में परिवर्तित किया जाएगा। सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि पूर्वी दिल्ली क्षेत्र में स्थित गाजीपुर लैंडफिल साइट पर निरंतर बढ़ता हुए कूड़े का पहाड़ बहुत गंभीर विषय है, जिसके स्थायी समाधान के लिए वे स्वयं पूर्वी दिल्ली नगर निगम के साथ मिलकर कार्य कर रहें है। 

उन्होंने उम्मीद जताई कि आधुनिक तकनीक पर आधारित यह मशीन इस विकराल समस्या का निश्चित रूप से स्थायी समाधान करेगी। महापौर अंजू ने कहा कि गौतम गंभीर के प्रयासों एवं सहयोग से ही यह संभव हो पाया कि पूर्वी निगम द्वारा गाजीपुर लैंडफिल साइट में निरंतर बढ़ रहे कूड़े के पहाड़ को कम करने के लिए ट्राॅमल-कम-बैलेस्टिक मशीन लगाई गई है, जो निश्चित रूप से पूर्वी दिल्ली नगर निगम का एक सकारात्मक प्रयास है। महापौर ने इसके लिए पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को बधाई दी।
Tags : Fire,photos,नासा,NASA,residues of crops ,landfill site,Ghazipur,Gautam Gambhir,Lok Sabha,East Delhi Municipal Corporation