आतंकवादियों को जन्नत तो शहीदों का भी स्थान बताएं धनखड़

झज्जर : हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ के आंतकवादियों को जहान्नुम की बजाय जन्नत नसीब होने वाले बयान को प्रदेश सरकार की पूर्व शिक्षा मंत्री व झज्जर की विधायक गीता भुक्कल ने अजीबो गरीब बताया है। उन्होंने मंत्री से इसी बारे में सवाल पूछते हुए कहा है कि मंत्री जी को बताना चाहिए कि यदि आंतकवादियों को जन्नत नसीब होती है फिर देश की सुरक्षा के लिए शहादत देने वाले शहीदों को आखिर क्या नसीब होत है इसका जवाब भी मंत्री जी को देना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि मंत्री जी को सत्ता का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है तभी वह इस प्रकार के बयान देने से कतई गुरेज नहीं करते। भुक्कल यहीं नहीं रूकी उन्होंने यह भी कहा कि मंत्री जी अपनी सभाओं में ठाडा प्रतिनिधि चुनने की अपील लोगों से करते है। मंत्री जी को यह भी बतान चाहिए कि ठाडा प्रतिनिधि क्या वह जाति से आंकते है या फिर विकास से। कारण कि विकास तो मौजूदा शासनकाल में जिस तरह से भाजपा सरकार ने कराया है वह किसी से छिपा नहीं है। 

आज भी झज्जर जिले के लोग पानी व बिजली की समस्या को लेकर जनप्रतिनिधियों का घेराव कर रहे है। यदि मंत्री जी इतने ही ठाडे थे तो उन्हें बताना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है। भुक्कल ने अपने निवास स्थान पर पत्रकारों के रूबरू होकर यह भी  कहा कि कभी सरकार मनेठी में एम्स की घोषणा करती है और कभी इसी पर यू-टर्न ले लेती है। 

इससे ऐसा लगता है कि मनेठी में एम्स की घोषणा भी भाजपा के लिए एक तरह से चुनावी जुमला था। यदि ऐसा था तो फिर ऐसा ही लगता है कि सरकार इसी प्रकार के चुनावी जुमलों से अपनी चुनावी नैया पार करना चाहती है जोकि अब शायद हरियाणा की जनता को मंजूर नहीं है। इसका आईना मौजूदा विस चुनावों में भाजपा  को जनता दिखा देगी।
Tags : ,terrorists,martyrs,location