+

गाजियाबादः डबल मर्डर से सनसनी, रिक्शा चालक ने पत्नी और बेटी को फावड़े से काटा

गाजियाबाद के सिहानी सादिकनगर गांव में शुक्रवार तड़के एक घर में डबल मर्डर की खबर से सनसनी फैल गई। दरअसल, सादिकनगर गांव में रहने वाले एक ई-रिक्शा चालक ने कथित तौर पर फावड़े से काटकर पत्नी और नाबालिग बेटी की निर्मम हत्या कर दी।
गाजियाबादः डबल मर्डर से सनसनी, रिक्शा चालक ने पत्नी और बेटी को फावड़े से काटा
गाजियाबाद के सिहानी सादिकनगर गांव में शुक्रवार तड़के एक घर में डबल मर्डर की खबर से सनसनी फैल गई। दरअसल, सादिकनगर गांव में रहने वाले एक ई-रिक्शा चालक ने कथित तौर पर फावड़े से काटकर पत्नी और नाबालिग बेटी की निर्मम हत्या कर दी। घटना के बाद आरोपी बाहर से घर की कुंडी लगाकर फरार हो गया। हत्या के करीब सात घंटे बाद उसने अपने एक परिचित को घटना के बारे में बताया, जिसने पुलिस को इसकी सूचना दी।
नंदग्राम थाना पुलिस ने दोनों शवों को मोर्चरी भिजवाकर हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक, आरोपी को शक था कि उसकी पत्नी अनैतिक कार्य में लिप्त है, इसलिए उसने उसे मार डाला, जबकि विरोध करने पर बेटी भी मां का साथ देती थी, लिहाजा उसे भी मौत के घाट उतार दिया।
सिहानी सादिकनगर निवासी संजय पाल ई-रिक्शा चलाकर अपनी आजीविका चलाता है। उसके परिवार में 17 वर्षीय बेटे कुनाल के अलावा पत्नी रेखा और 15 वर्षीय बेटी ताशू थी। तीन मंजिला मकान के ग्राउंड फ्लोर पर कुनाल, फर्स्ट फ्लोर पर संजय तथा सेकेंड फ्लोर पर रेखा अपनी बेटी ताशू के साथ रहती थी। अक्सर विवाद रहने के चलते पति-पत्नी एक ही मकान में अलग-अलग फ्लोर पर रहते थे। बुधवार देर रात संजय का पत्नी रेखा से विवाद हो गया।
 काफी देर तक कहासुनी होने के बाद संजय फर्स्ट फ्लोर पर अपने कमरे में और रेखा सेकेंड फ्लोर पर अपने कमरे में सोने चली गई, जबकि ताशू सेकेंड फ्लोर की छत पर सोने चली गई। तड़के करीब चार बजे संजय ने पत्नी के कमरे में जाकर उसे जगाया और खेल खत्म करने की बात कहते हुए उसकी गर्दन और चेहरे पर फावड़े से ताबड़तोड़ वारकर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद संजय छत पर बेटी के पास गया और सोते समय गर्दन पर फावड़े से कई वार कर उसकी भी हत्या कर दी।
सांसें थमने तक करता रहा वार
बुधवार देर रात विवाद होने के बाद संजय तैश में आ गया। पत्नी और बेटी के सोने के बावजूद वह जागता रहा और फिर उसने दोनों को मौत के घाट उतारने का फैसला कर लिया। वह अपने पास रखा फावड़ा लेकर पहले पत्नी के कमरे में गया और फिर बेटी के पास पहुंचा। दोनों पर वह फावड़े से तब तक वार करता रहा, जब तक उनकी सांसें नहीं थम गईं। दोनों की हत्या के बाद करीब आधा घंटे तक वह घर में रुका और फिर बाहर से घर की कुंडी लगाकर फरार हो गया।
परिचित से बोला-घर में दोनों की लाश पड़ी हैं
दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने के बाद संजय इधर-उधर भटकता रहा। करीब सात घंटे के बाद उसने अपने एक परिचित को कॉल की और उससे कहा कि वह पत्नी व बेटी की हत्या करके आया है। दोनों की लाशें घर में पड़ी हैं। यह सुनते ही जानकार के पैरों तले जमीन खिसक गई। उसने तुरंत सिहानी चुंगी चौकी इंचार्ज को फोन कर घटना के बारे में बताया। पुलिस मौके पर पहुंची तो मां-बेटी की लहूलुहान लाश देखकर होश उड़ गए। इसके बाद उस जानकार के माध्यम से ही पुलिस ने हत्यारोपी को पुराना बस अड्डे से गिरफ्तार कर लिया।
पकड़े जाने पर पहले गुमराह किया, फिर बताई असल वजह
शुरुआत में संजय ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। उसने बताया कि बुधवार देर रात भी उसका पत्नी से विवाद हो गया था। पत्नी ने उसे थप्पड़ मारने के साथ-साथ उसका पानी भी बंद कर दिया था। इसी बात से तैश में आकर उसने पत्नी को मार डाला और उसका साथ देने वाली बेटी को भी जिंदा नहीं छोड़ा। मामूली बात पर दोहरे हत्याकांड की बात पुलिस के गले नहीं उतरी और संजय से पूछताछ जारी रखी। इस पर संजय टूट गया और हत्या की असल वजह बताई।
आदत से बाज नहीं आ रही थी
पूछताछ में संजय ने बताया कि उसकी पत्नी अनैतिक कार्य करती थी। वह रोजाना अपने पालतू कुत्ते को साथ लेकर नोएडा आदि स्थानों पर जाती थी। एक दिन पीछा करते हुए वह भी नोएडा पहुंच गया, जहां पत्नी के बारे में पता चला। संजय ने बताया कि वह पत्नी से विरोध जताता था, लेकिन वह अपनी आदत से बाज नहीं आ रही थी। इसी बात को लेकर अक्सर घर में झगड़ा रहता था। विरोध करने पर उसकी बेटी भी अपनी मां का साथ देती थी, जिसके चलते उसने पत्नी के साथ-साथ बेटी को भी मौक के घाट उतारने का फैसला किया।
इंस्टाग्राम पर वीडियो देख पुलिस चौकी
घटना का पता लगने के बाद एसएसपी मुनिराज जी., एसपी सिटी निपुण अग्रवाल, सीओ प्रथम अंशु जैन, नंदग्राम एसएचओ रमेश सिद्धू फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और घटना का जायजा लेकर शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। पुलिस हिरासत में हत्यारोपी संजय ने पत्नी रेखा के इंस्टाग्राम अकाउंट के बारे में बताया। पुलिस ने अकाउंट पर अपलोड रेखा और उसकी बेटी के वीडियो देखे तो वह भी हैरत में पड़ गई।
बेटे की भूमिका का पता लगा रही पुलिस
तीन मंजिला मकान में संजय के साथ उसका बेटा कुनाल भी रहता है। घटना के बाद से कुनाल का कुछ पता नहीं है। पूछताछ में संजय ने बताया कि उसके पिता खेमचंद बगल वाले मकान में रहते हैं। बुधवार रात उनकी तबीयत खराब हो गई, जिसके बाद उसका बेटा कुनाल अपने दादा को अस्पताल लेकर गया था। एसपी सिटी निपुण अग्रवाल का कहना है कि घटना में कुनाल की भूमिका की जांच की जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
facebook twitter instagram