+

गाजियाबाद : एलईडी TV में हुआ जोरदार धमाका, 16 वर्षीय लड़के की मौत, 2 लोग घायल

गाजियाबाद के टीला मोड़ थाना क्षेत्र के हर्ष विहार-2 क्षेत्र के एक घर में मंगलवार दोपहर एलईडी टीवी में धमाका हो गया। इस विस्फोट में एक 16 वर्षीय किशोर की मौत हो गई, जबकि परिवार के दो अन्य सदस्य घायल हो गए। घायलों को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
गाजियाबाद : एलईडी TV में हुआ जोरदार धमाका, 16 वर्षीय लड़के की मौत, 2 लोग घायल
गाजियाबाद के टीला मोड़ थाना क्षेत्र के हर्ष विहार-2 क्षेत्र के एक घर में मंगलवार दोपहर एलईडी टीवी में धमाका हो गया। इस विस्फोट में एक 16 वर्षीय किशोर की मौत हो गई, जबकि परिवार के दो अन्य सदस्य घायल हो गए। घायलों को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि धमाका इतना जोरदार था कि टीवी के सामने की दीवार भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। 
ऑटो चालक हर्ष विहार कॉलोनी में निरंजन परिवार के साथ रहता है। मंगलवार दोपहर निरंजन की पत्नी ओमवती, पुत्र ओमेंद्र और ओमेंद्र का दोस्त करण घर की दूसरी मंजिल के एक कमरे में एलईडी टीवी पर कार्यक्रम देख रहे थे। निरंजन की बहू मोनिका के मुताबिक दोपहर करीब दो बजे अचानक एलईडी में विस्फोट हो गया. हादसे में तीनों बुरी तरह घायल हो गए। धमाके की आवाज सुनकर आसपास के लोग बाहर निकले और निर्जन के घर की ओर दौड़ पड़े, तभी खिड़कियों से धुआं निकल रहा था।
इस दौरान कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाई और घर के अंदर घुस गए। पूरा कमरा धुएँ से भर गया था और जलने की गंध आ रही थी। स्थानीय लोगों ने तुरंत घायलों को अस्पताल पहुंचाया। इस दौरान पुलिस को सूचना दी गई। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों ने 16 वर्षीय ओमेंद्र को मृत घोषित कर दिया. पुलिस का कहना है कि ओमवती और करण का इलाज चल रहा है।
टीला मोड़ थाना प्रभारी भुवनेश कुमार का कहना है कि एलईडी के टूटे टुकड़े ओमेंद्र के चेहरे व अन्य जगहों में घुस गए थे। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। ओमवती के पैर सहित एक तरफ चोट लगी है, जबकि करण के माथे, चेहरे, दोनों पैरों और छाती पर चोट के निशान हैं।
घायलों ने पहले बताया कि मोबाइल में धमाका हुआ
पुलिस का कहना है कि घर में विस्फोट के बाद जब पड़ोसी मौके पर पहुंचे तो घायलों ने उन्हें बताया कि मोबाइल में धमाका हुआ है, लेकिन एलईडी की हालत देखकर लोग समझ गए कि यह मोबाइल में विस्फोट नहीं है. जिस दीवार पर एलईडी लगाई गई थी, उसके ठीक सामने की दीवार विस्फोट से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है।
हाई वोल्टेज भी हो सकता है कारण
एलईडी निर्माता संदीप गर्ग का कहना है कि एलईडी में विस्फोट होने की उनकी जानकारी में यह पहला मामला है। एलईडी उच्च वोल्टेज के साथ पिघल सकता है, लेकिन विस्फोट नहीं कर सकता। हालांकि, टीला मोड़ इलाके में हुई घटना का एक कारण हाई वोल्टेज भी हो सकता है।
एसपी (ट्रांस हिंडन) ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि किशोरी की मौत एलईडी में विस्फोट से हुई है. दुर्घटना का कारण अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन हाई वोल्टेज इसका एक कारण हो सकता है। फोरेंसिक टीम भी मौके पर भेजी गई है। शुरू में परिवार को मोबाइल में विस्फोट लग रहा था, लेकिन उनका मोबाइल अच्छी स्थिति में मिला, इसलिए विस्फोट एलईडी में ही हुआ।
इन बातों का रखें ध्यान
- वोल्टेज स्टेबलाइजर का उपयोग करके टीवी, फ्रिज और एसी जैसे उपकरण चलाएं।
- बिजली के उपकरणों के तार कहीं से भी नहीं काटने चाहिए।
कंपनी द्वारा दी गई निर्धारित दूरी पर बैठकर टीवी देखना चाहिए।
facebook twitter instagram