गोवा CM प्रमोद सावंत ने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के मंत्रियों से मांगा इस्तीफा

पणजी : गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी) के तीन विधायकों और निर्दलीय विधायक रोहन खुंटे को उनके मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने के लिए कहा है क्योंकि वह चार नये मंत्रियों को शनिवार को शामिल करेंगे। 

जीएफपी ने कहा कि वह कोई भी निर्णय भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से बातचीत के बाद ही लेगी।
 
हाल में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए 10 विधायकों ने मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ नयी दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की थी। 

सावंत ने राष्ट्रीय राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से फोन पर पीटीआई से कहा, ‘‘मैंने जीएफपी के तीन मंत्रियों और खुंटे को कैबिनेट से इस्तीफा देने के लिए कहा है। मैंने उन्हें निर्देश अपने आलाकमान से आदेश के अनुरूप दिये हैं।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कल चार नये मंत्रियों को शामिल करूंगा।’’ उन्होंने हालांकि उनके नामों का खुलासा नहीं किया। 
भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने इससे पहले दिन में कहा था कि सावंत भाजपा विधायक एवं गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष माइकल लोबो और कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए 10 विधायकों में से तीन को शामिल करेंगे। 

घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया जताते हुए जीएफपी प्रमुख एवं वर्तमान में उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई ने कहा कि उनकी पार्टी गठबंधन नेताओं से वार्ता के बाद भाजपा नीत राजग में शामिल हुई थी और ‘‘वर्तमान प्रदेश भाजपा नेता तब चर्चा का हिस्सा नहीं थे।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे में हम केंद्र में राजग नेतृत्व के साथ वार्ता के बाद ही उचित कदम उठाएंगे। हमें भाजपा के केंद्रीय नेताओं से अभी तक कोई आधिकारिक संदेश प्राप्त नहीं हुआ है। इसके विपरीत हमें इसके संकेत मिले हैं कि मामला सौहार्द्रपूर्ण तरीके से सुलझ जाएगा।’’
 
जीएफपी ने भाजपा को 2017 में मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए समर्थन दिया था। उसने उसके बाद मार्च 2019 में पर्रिकर के निधन के बाद एक बार फिर भाजपा को समर्थन दिया था जब सावंत ने सत्ता संभाली थी। 

लोबो ने इससे पहले दिन में संवाददाताओं से कहा कि कैबिनेट में मात्र एक निर्दलीय को बरकरार रखा जा सकता है। वर्तमान में कैबिनेट में खुंटे के अलावा गोविंद गावडे अन्य निर्दलीय हैं जो राजस्व मंत्री हैं। 

लोगों ने मंत्रियों को हटाने को उचित ठहराते हुए बिना किसी का नाम लिये आरोप लगाया कि उनमें से कुछ ने सावंत पर दबाव बनाने का प्रयास किया। 

भाजपा नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री मदद करने को तैयार हैं लेकिन आप उन पर दबाव नहीं बना सकते। आप अपना अहम उनके समक्ष नहीं रख सकते या यह नहीं कह सकते कि आप मेरा काम करिये नहीं तो मैं सरकार गिरा दूंगा। 

लोबो ने कहा कि नये मंत्रियों का शपथग्रहण शनिवार को शाम चार बजे होगा। कांग्रेस के 15 विधायकों में से 10 विधायक विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में बुधवार को भाजपा में शामिल हो गए थे। 

10 विधायक और लोबो दिल्ली से यहां लौट आये। सावंत गोवा खनन के मुद्दे पर शुक्रवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में शामिल होने के लिए वहीं रुक गए। फरवरी 2018 में उच्चतम न्यायालय के एक आदेश के बाद गोवा में खनन रुक गया है। 

सरदेसाई के अलावा जीएफपी के दो अन्य मंत्री विनोद पालयेकर और जयेश सालगांवकर हैं। 
Tags : ,Pramod Sawant,Goa Forward Party