+

सोना तस्करी मामला : NIA की जांच महत्वपूर्ण चरण में, केरल HC ने हस्तक्षेप करने से किया मना

हाईकोर्ट की खंडपीठ ने यह कहते हुए हस्तक्षेप करने से मना कर दिया कि एनआईए को अपनी जांच आगे बढ़ाने की अनुमति दी जानी चाहिए।
सोना तस्करी मामला : NIA की जांच महत्वपूर्ण चरण में, केरल HC ने हस्तक्षेप करने से किया मना
केरल हाईकोर्ट ने बुधवार को सोना तस्करी मामले में हस्तक्षेप करने से मना कर दिया। राष्ट्रीय जांच एजेंसी की जांच अब एक महत्वपूर्ण चरण में प्रवेश कर चुकी है, जिसकी वजह से हाईकोर्ट ने दखल देने से इनकार कर दिया। हाईकोर्ट की खंडपीठ ने यह कहते हुए हस्तक्षेप करने से मना कर दिया कि एनआईए को अपनी जांच आगे बढ़ाने की अनुमति दी जानी चाहिए।
कई लोगों की नजर इस बात पर है कि अगर मामले में राजनीतिक विवाद बढ़ता है तो इसका प्रभाव केरल में पिनरई विजयन सरकार और उनकी सार्वजनिक छवि को भारी नुकसान पहुंचा सकता है। एनआईए की जांच टीम ने मामले में सबूत इकट्ठा करने के लिए राज्य की राजधानी के विभिन्न हिस्सों का दौरा किया, जिसके बाद जांच का पहला चरण मंगलवार को पूरा हुआ। वहीं मामले में आरोपी पी.एस. सारिता, स्वप्ना सुरेश, और संदीप नायर, ये सभी एनआईए की हिरासत में हैं।
मामले में दूसरे चरण की जांच बुधवार से शुरू होने वाली है, जिसमें एनआईए टीम तीन प्रमुख अभियुक्तों के साथ संयुक्त पूछताछ करेगी। यह सत्र भविष्य में जांच की दिशा निर्धारित करने वाला है। अब तक एनआईए ने जाली दस्तावेजों और नकली मुहरों के रूप में सबूत एकत्र कर लिए हैं।

काकरापार परमाणु ऊर्जा संयंत्र-3 के क्रिटिकल होने पर PM मोदी ने दी वैज्ञानिकों को बधाई

facebook twitter