सरकार “विभाजक नीतियों” के बजाय आर्थिक मंदी और बेरोजगारी पर ध्यान दें : एच डी कुमारस्वामी

बेंगलुरु : मेंगलुरु हवाईअड्डे पर बम रखने के मामले में एक बेरोजगार इंजीनियर के आत्मसमर्पण का हवाला देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से सीएए और एनआरसी जैसी “विभाजक नीतियों” के बजाय आर्थिक मंदी और बेरोजगारी जैसे मूल मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने को कहा। 

भाजपा पर समुदायों के बीच दरार पैदा करने का आरोप लगाते हुए जद(एस) नेता ने बुधवार को कहा कि आदित्य राव के आत्मसमर्पण से यह भी स्पष्ट है कि किसी खास समुदाय को आतंकी गतिविधियों के लिये दोषी नहीं ठहराया जा सकता। कुमारस्वामी ने कहा, “सोमवार की घटना जिसमें आदित्य राव ने आत्मसमर्पण किया मुझे नाटकीय लगती है, क्योंकि वह मेंगलुरु से चलकर डीजी (महानिदेशक) कार्यालय में यहां (बेंगलुरु) आत्मसमर्पण करने के लिये आया...मेरे सामने अब भी यह प्रश्न है।” 

उन्होंने संवाददाताओं से यहां बात करते हुए कहा कि वह इस मामले को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संज्ञान में यह घटना लाना चाहते हैं क्योंकि राव मैकेनिकल इंजीनियरिंग स्नातक है और उचित नौकरी न होने की वजह से परेशान बताया जा रहा था। उन्होंने कहा, “उसे इस स्थिति में कौन लेकर गया, ये हम हैं...हम अवैध प्रवासियों, सीएए, एनआरसी, एनपीआर की बात करते हैं जो हमारी प्राथमिकता नहीं होनी चाहिए।” 

कुमारस्वामी ने कहा कि इसके बजाए आर्थिक मंदी और बढ़ती बेरोजगारी के मुद्दों को तत्काल देखे जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, “मोदीजी कृपया वास्तविक समस्याओं को देखिए...न कि उनको,जिनको लेकर आप माहौल बना रहे हैं जो देश में हिंसा और दंगों के लिये अनुकूल होगी।” कुमारस्वामी ने कहा, “संदिग्ध के आज के आत्मसमर्पण से यह स्पष्ट है कि सिर्फ मुस्लिम समुदाय के लोग ही आतंकवादी नहीं बन रहे बल्कि ऐसी स्थिति आ गई है कि हिंदू समुदाय के लोग भी आतंकवाद का रुख कर रहे हैं।” 

आतंकी घटनाओं के लिये एक खास समुदाय को कथित रूप से आरोपी ठहराने के लिये भाजपा नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने पूछा कि समाज को बांटकर उन्हें क्या मिलेगा। मेंगलुरु अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर बम रखने के संदिग्ध 36 वर्षीय आदित्य राव ने बुधवार को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था। जद(एस) नेता ने दावा किया कि संदिग्ध अगर मुस्लिम समुदाय से होता को भाजपा नेता बड़े पैमाने पर इसे लेकर समुदाय के खिलाफ अभियान चलाते और उनपर आतंकवाद में लिप्त होने का आरोप लगाते। उन्होंने कहा, ‘‘वे (भाजपा) अब खामोश हैं, क्योंकि संदिग्ध गैस मुस्लिम समुदाय से है।’’ 
Tags : Badrinath,चारधाम यात्रा,बद्रीनाथ,हिमपात,Snow,भीषण ठंड,Kedarnath Dham,केदारनाथ धाम,Chardham Yatra,Gruzing cold ,slowdown,government,surrender,HD Kumaraswamy,community