राज्यपाल ‘आरएसएस-भाजपा का लाबादा’ छोड़ें और महा विकास आघाडी को आमंत्रित करें : कांग्रेस

कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल ‘राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का लबादा त्यागें और शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन को राज्य में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करें। 

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र की घटनाओं से राष्ट्रपति की भूमिका भी सवालों में आ गई है। 

तिवारी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम उम्मीद करते हैं कि राज्यपाल पूरे घटनाक्रम से सबक सीखेंगे और आरएसएस-भाजपा का लबादा छोड़ेंगे और ‘महा विकास आघाडी’ को महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करेंगे, ताकि लोगों को एक स्थायी सरकार मिले।’’ 

उन्होंने कहा कि जिस तरह शनिवार की सुबह संविधान के साथ छेड़छाड़ की गई और उसे पूरी तरह दरकिनार कर दिया गया, उसे “इतिहास में काले अक्षरों में दर्ज किया जाएगा।” 

उन्होंने कहा, “आज क्या हुआ, पिछले पांच सालों से जिस तरह एनडीए-भाजपा सरकार ने बेईमानी और पूरी तरह अनैतिक तरीके से विपक्षी सरकारों को गिराया गया या गिराने की कोशिश की गई, उस पर रोक लग गई।” 

कांग्रेस नेता ने कहा कि हमें उम्मीद है कि उच्चतम न्यायालय घटनाक्रम को देखेगा । तिवारी ने प्रधानमंत्री कार्यालय और राष्ट्रपति कार्यालय की भूमिका पर भी सवाल किए। 

उन्होंने कहा कि जो लोग अब कह रहे हैं कि वे खरीद-फरोख्त नहीं करना चाहते, उन्होंने पहले गैर-कानूनी सरकार क्यों बनाई। 
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Governor,BJP,RSS,Maha Vikas Aghadi: Congress,Congress,alliance,Maharashtra,government,state,NCP,Shiv Sena