+

श्रमिक संगठनों द्वारा घोषित देशव्यापी हड़ताल का समर्थन करेंगे ग्रामीण बैंक के कर्मचारी

लगभग 21 हजार शाखाओं एक लाख अधिकारी और सभी प्रकार के कर्मचारी काम कर रहे है। इनमें दैनिक और अंशकालिक कर्मचारियों की भी बड़ी संख्या है।
श्रमिक संगठनों द्वारा घोषित देशव्यापी हड़ताल का समर्थन करेंगे ग्रामीण बैंक के कर्मचारी
मजदूर संगठनों की घोषित 25 नवंबर को देशव्यापी हड़ताल में ग्रामीण बैंक के कर्मचारियों ने भी शामिल होने का ऐलान किया है। देश भर के ग्रामीण बैंकों में कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले केन्द्रीय संगठनों के साझा मंच यूनाइटेड फोरम ऑफ़ आरआरबी यूनियन्स ने आज एक ऑनलाइन बैठक के बाद यह घोषणा की। 
मंच के संयोजक ने इस हड़ताल की प्रमुख मांगों में अपनी मांगों को समाहित करते हुए ‘सचिव बैंकिग डिवीजन नई दिल्ली’ को हड़ताल का नोटिस भेजा है। ग्रामीण बैंक संगठनों के साझा मंच ने देश भर के ग्रामीण बैंकों में कार्यरत सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के संगठनों से इस हड़ताल को सफल बनाने के लिए पत्र जारी किया है। 
इसमें कहा गया है कि सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने के लिए प्रेरित किया जाए और जिले स्तर पर अन्य श्रम संगठनों के साथ आयोजित होने वाले विरोध प्रर्दशनों में भी पूरी भागीदारी की जाए। देश भर में कार्यरत करोड़ों श्रमिकों और कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रमुख 10 श्रम संघों के साझा मंच की केंद्र सरकार की कथित जन विरोधी, किसान विरोधी और राष्ट्र विरोधी नीतियों के खिलाफ बुलाई गयी देशव्यापी हड़ताल में बैंकिग उद्योग भी शामिल होगा। 
ग्रामीण बैंकों के भी शामिल होने से इस हड़ताल का प्रभाव ग्रामीण इलाकों में साफ दिखेगा। मौजूदा समय में सभी राज्यों में एक या अधिक ग्रामीण बैंक है जिनकी कुल संख्या 43 है। लगभग 21 हजार शाखाओं एक लाख अधिकारी और सभी प्रकार के कर्मचारी काम कर रहे है। इनमें दैनिक और अंशकालिक कर्मचारियों की भी बड़ी संख्या है।
facebook twitter instagram