GREF और पुलिस ने जिमा-लाचेन में फंसे 300 पर्यटकों को निकाला

मिजोरम में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण जिमा से लाचेन के बीच फंसे 300 पर्यटकों और 60 वाहनों को जनरल रिजर्व इंजीनियरिंग फोर्स (जीआरईएफ) और पुलिस ने निकाल लिया है। उत्तर सिक्किम के जिलाधिकारी आर के यादव ने कहा, ‘‘अगले आदेश तक लाचेन, लाचुंग और दोजंगु जाने वाले पर्यटकों को परमिट नहीं जारी किये जायेंगे। 

उन्होंने कहा कि चुंगथांग- लाचेन- थांगु के कई स्थानों पर सड़क बंद है।’’ पिछली रात भारी बारिश के कारण मंटम और दजोंगु को जोड़ने वाला पुल टूट गया है। स्थानीय निवासियों के अनुसार दिकचु स्थिति एनएचपीसी गेस्ट हाऊस पर खतरा है। तीस्ता नदी में आयी बाढ़ चिंता का कारण बन गयी है। 


इस बीच भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने क्षेत्र में बादल फटने की रिपोर्टों से इंकार किया है। लेकिन किसी स्थिति से निटपने के लिए राष्ट्रीय आपदा बल तैनात किया गया है। मिजोरम के निचले क्षेत्रों सिंगतम, रंगपो में बाढ़ से भारी तबाही हुई है और पश्चिम बंगाल में तीस्ता बाजार पर भी खतरा मंडरा रहा है। 

दक्षिण सिक्किम में स्थित आदर्श गांव में दोपहर एक बजे के बाद नदी के जल स्तर में वृद्धि देखी गई है। इस बीच प्रशासन ने नदी के किनारे स्थित छोटी कॉलोनी के निवासियों को सुरक्षित क्षेत्रों में भेज दिया गया है। पूर्व से दक्षिण को जोड़ने वाला मंगली ब्रिज कल रात बाढ़ में बह गया।
Tags : ,GREF,Lachen,Jima