+

हरदीप सिंह पुरी का दावा- सरकारी बंगला नहीं छोड़ना चाहतीं प्रियंका, लगवाई थी सिफारिश

हरदीप सिंह पुरी का दावा- सरकारी बंगला नहीं छोड़ना चाहतीं प्रियंका, लगवाई थी सिफारिश
केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को दावा किया कि एक ‘‘प्रभावी’’कांग्रेस नेता ने उनसे संपर्क कर आग्रह किया था कि प्रियंका गांधी वाड्रा से जिस सरकारी बंगले को खाली करने को कहा गया है, उसे किसी कांग्रेस सांसद को आवंटित कर दिया जाए ताकि कांग्रेस महासचिव वहां रहना जारी रख सकें।

इसके जवाब में प्रियंका गांधी ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई आग्रह नहीं किया है और वह अपना सरकारी बंगला सरकार द्वारा बतायी गयी समयसीमा एक अगस्त तक खाली कर देंगी। पुरी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘तथ्य स्वयं बोलते हैं।

एक प्रभावी कांग्रेस नेता, जिनकी पार्टी में बहुत पैठ है, ने चार जुलाई 2020 को दोपहर 12:05 बजे मुझे फोन कर आग्रह किया कि 35, लोधी एस्टेट कांग्रेस के ही एक अन्य सांसद को आवंटित कर दिया जाए ताकि प्रियंका वाड्रा उसमें रहना जारी रख सकें।

कृपया हर चीज को सनसनीखेज मत बनाइए।’’ केंद्रीय मंत्री का यह ट्वीट उस वक्त आया जब इससे पहले प्रियंका गांधी वाड्रा ने उस खबर को ‘फर्जी’ करार दिया जिसमें दावा किया गया था कि उन्होंने अपना बंगला खाली करने के लिए सरकार से और समय मांगा है।

गौरतलब है कि केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने प्रियंका से नयी दिल्ली स्थित सरकारी बंगला एक अगस्त तक खाली करने को कहा है। उसकी ओर से जारी आदेश में कहा गया कि एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद उन्हें मौजूदा आवास ‘35 लोधी एस्टेट’ खाली करना पड़ेगा क्योंकि जेड प्लस की श्रेणी वाली सुरक्षा में आवास सुविधा नहीं मिलती। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ‘‘यह फर्जी खबर है। मैंने सरकार से कोई आग्रह नहीं किया है।

आवास खाली करने के लिए एक जुलाई को मिले पत्र के अनुसार, मैं एक अगस्त तक सरकारी आवास 35 लोधी एस्टेट को खाली कर दूंगी।’’ पुरी के ट्वीट के बाद प्रियंका गांधी ने दोहराया कि वह अपना सरकारी बंगला एक अगस्त तक खाली कर देंगी और। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि उन्होंने बंगले में रहने के लिए और समय मांगे जाने का कोई आग्रह नहीं किया। 

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘अगर किसी ने आपको फोन किया तो मैं उन्हें उनकी चिंता के लिए धन्यवाद देती हूं। आपने इस पर विचार किया इसलिए आपको भी धन्यवाद देती हूं। लेकिन इससे तथ्य नहीं बदल जाएगा। मैंने ऐसा कोई आग्रह नहीं किया है और मैं कोई ऐसा आग्रह कर भी नहीं रही हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जैसा कि मैं कह चुकी हूं कि आवास खाली करने के लिए एक जुलाई को मिले पत्र के अनुसार मैं एक अगस्त तक बंगला खाली कर दूंगी।’’ कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि प्रियंका गांधी जनता के हितों में लड़ने वाली कांग्रेस नेता है और उन्हें किसी के उपकार की आवश्यकता नहीं है।

सरकार ने पिछले साल नवंबर में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली थी तथा उन्हें सीआरपीएफ वाली जेड-प्लस श्रेणी सुरक्षा दी थी।
facebook twitter