+

राजस्थान के खिलाफ हार्दिक पांड्या ने अर्धशतक जड़ने के बाद 'Black Lives Matter' का ऐसे किया समर्थन

मुंबई इंडियंस के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पहले ऐसे खिलाड़ी बने हैं जिन्‍होंने ब्लैक लाइव्स मैटर आंदोलन का खुलकर समर्थन किया है। बीते रविवार को आईपीएल 2020 का 45वां मैच राजस्‍थान रॉयल्स
राजस्थान के खिलाफ हार्दिक पांड्या ने अर्धशतक जड़ने के बाद 'Black Lives Matter' का ऐसे किया समर्थन
मुंबई इंडियंस के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पहले ऐसे खिलाड़ी बने हैं जिन्‍होंने ब्लैक लाइव्स मैटर आंदोलन का खुलकर समर्थन किया है। बीते रविवार को आईपीएल 2020 का 45वां मैच राजस्‍थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस के बीच में खेला गया। इस मैच में नस्लवाद के खिलाफ आंदोलन का हार्दिक पांड्या ने सपोर्ट किया। हालांकि राजस्‍थान ने मुंबई को 8 विकेटों से यह मैच हरा दिया लेकिन क्रिकेट फैन्स का दिल हार्दिक पांड्या ने ऐसे करके जीत लिया। 


राजस्‍थान के खिलाफ इस मैच में हार्दिक पांड्या ने नाबाद 60 रनों की पारी मात्र 21 गेंदों में खेली। मुंबई की पारी के 19वें ओवर में पांड्या ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। पांड्या ने अर्धशतक जड़ने के बाद मैदान पर अपने घुटने पर बैठकर और दाहिना हाथ उठाकर इस आंदोलन के प्रति अपना समर्थन दिया और एकजुटता दिखाई। 


वहीं पांड्या के ऐसे करने पर वेस्टइंडीज के स्टार ऑलराउंडर और मुंबई के कार्यवाहक कप्तान कीरोन पोलार्ड ने भी प्रतिक्रिया देते हुए अपनी दाहिनी मुट्ठी उठाई। हार्दिक पांड्या ने मैच के बाद ट्विटर पर अपनी यही तस्वीर शेयर करके कैप्‍शन में ब्लैक लाइव्स मैटर लिखा। 


बता दें कि, वेस्टइंडीज के टेस्ट कप्तान जेसन होल्डर आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेलते हैं। उन्होंने पिछले हफ्ते इस आंदोलन को लेकर आईपीएल में एकजुटना न दिखाने पर नराजगी जताई थी। जेसन होल्डर ने इस पर कहा था कि टूर्नामेंट में इसकी अनदेखी हो रही है ऐसा उन्हें महसूस हुआ। 


जेसन होल्डर ने बताया कि,मैंने इसे बीएलएम लेकर यहां कोई बातचीत नहीं की है। कभी-कभी लगता है कि इस पर किसी का ध्यान नहीं गया है,जो दुखद बात है। मुझे लगता है कि हमें इसका महत्व फिर से बताना होगा। लोगों को यह समझाना होगा कि दुनिया में क्या हो रहा है?


इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच इसी साल गर्मियों में खेली गई टेस्ट सीरीज के दौरान ब्लैक लाइव्स मैटर के समर्थन में घुटने पर बैठने की शुरुआत से हुई थी। अमेरिका के मिनिपोलिस में इसी साल 25 मई को अफ्रीकी मूल के अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई थी। अमेरिका सहित पूरी दुनिया में इसे लेकर बहुत विरोध प्रदर्शन हुआ था। इस आंदोलन की शुरुआत इस घटना के बाद हुई।  
facebook twitter instagram