हर्षवर्धन ने राज्यों से अपने बजट में स्वास्थ्य पर खर्च बढ़ाने की अपील की

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. हर्षवर्धन ने बृहस्पतिवार को सभी राज्यों से अपने बजट में स्वास्थ्य पर खर्च को बढ़ा इसे आठ फीसदी तक ले जाने की अपील की। उन्होंने कहा कि इससे 2025 तक स्वास्थ्य पर व्यय की सीमा को सकल घरेलू उत्पाद के 2.5 प्रतिशत तक ले जाने के लक्ष्य को हासिल किया जा सकेगा। 

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण परिषद के 13वें सम्मेलन को संबोधित करते हुये हर्षवर्धन ने कहा कि स्वास्थ्य और चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतरी के लिये सभी राज्यों ने मिलकर काम कर देश को पोलियो मुक्त बनाने सहित कई मील के पत्थर कायम किये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अगर सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री किसी लक्ष्य के लिये एकजुट हो जायें तो उसे पाना नामुमकिन नहीं है। 

उन्होंने राज्यों से स्वास्थ्य के क्षेत्र में बजट राशि के इस्तेमाल को बढ़ाने की अपील करते हुये कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बजट राशि के व्यय को 2025 तक 2.5 प्रतिशत के स्तर पर ले जाने का लक्ष्य तय किया गया है। हर्षवर्धन ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये सभी राज्यों को एकजुट होकर प्रयास करने होंगे और इसके तहत बजट में स्वास्थ्य पर खर्च होने वाली राशि में आठ प्रतिशत का इजाफा करने की जरूरत होगी। 

बैठक में 13 राज्यों ने हिस्सा लिया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य सुधार को सामाजिक आंदोलन बनाने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों को नागरिकों की सेहत में सुधार के लिये खानपान की आदतों में बदलाव का संदेश देने वाले अभियान ‘‘ईट राइट एंड फिट इंडिया’’ में सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए। 
Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Harsh Vardhan,states