हर्षवर्धन आज डब्ल्यूएचओ एग्जिक्यूटिव बोर्ड के अध्यक्ष पद का प्रभार संभालेंगे, पहली बैठक में लेंगे हिस्सा

03:26 PM May 22, 2020 | Yogesh Baghel
देश में कोविड-19 के खिलाफ जंग का नेतृत्व करने वाले भाजपा के नेता और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन आज 34 सदस्यीय विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एग्जिक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन का पद संभालेंगे। अधिकारियों ने बताया कि हर्षवर्धन जापान के डॉ. हिरोकी नाकातानी का स्थान लेंगे।

भारत के प्रत्याशी को कार्यकारी बोर्ड में नियुक्त करने के प्रस्ताव पर मंगलवार को 194 देशों के सदस्य वाले विश्व स्वास्थ्य सभा ने हस्ताक्षर किए थे। पिछले साल डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया समूह ने मई से शुरू होने वाले तीन साल के कार्यकाल के लिए कार्यकारी बोर्ड में भारत के प्रत्याशी को चुनने का सर्वसम्मति से फैसला लिया था।

अध्यक्ष पद क्षेत्रीय समूहों के पास बारी-बारी से एक साल के लिए रहता है और पिछले साल यह फैसला लिया गया कि भारत का प्रत्याशी शुक्रवार से शुरू हो रहे पहले साल के लिए कार्यकारी बोर्ड का अध्यक्ष रहेगा। एक अधिकारी ने बताया कि मंत्री को केवल कार्यकारी बोर्ड की बैठकों की अध्यक्षता करने की आवश्यकता होगी।

आरबीआई के फैसले पर कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ बोले- देश में भयानक मंदी के संकेत

कार्यकारी बोर्ड में 34 व्यक्ति होते हैं जो स्वास्थ्य के क्षेत्र में योग्यता प्राप्त होते हैं। हर व्यक्ति को सदस्य देश मनोनीत करते हैं। सदस्य देशों को तीन साल के कार्यकाल के लिए निर्वाचित किया जाता है। सोमवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए विश्व स्वास्थ्य सभा के 73वें सत्र को संबोधित करते हुए हर्षवर्धन ने कहा था कि भारत ने कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के लिए समय रहते सभी आवश्यक कदम उठाएं।

उन्होंने कहा था कि भारत ने इस बीमारी से निपटने के लिए अच्छा काम किया और आने वाले महीनों में और बेहतर करने का भरोसा है। भारत ऐसे वक्त में इसकी अध्यक्षता संभाल रहा है जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प समेत दुनियाभर में यह मांग उठ रही है कि इसकी जांच की जाए कि कोरोना वायरस की चीन के वुहान शहर में उत्पत्ति कैसे हुई।

Related Stories: