+

एम्बुलेंस-दवाओं पर अधिक वसूली करने वालों पर शिकंजा, खट्टर सरकार ने बनाया कंट्रोल रूम

हरियाणा सरकार ने एम्बुलेंस संचालकों द्वारा मनमाने दाम वसूले जाने और दवाइयों की कालाबाज़ारी और मुनाफाखोरी की हरकतों को अंजाम देने के वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है।
एम्बुलेंस-दवाओं पर अधिक वसूली करने वालों पर शिकंजा, खट्टर सरकार ने बनाया कंट्रोल रूम
कोरोना संक्रमण से मचे हाहाकार के बीच देश में स्वास्थ्य सेवाओं और दवाइयों पर मनमाने तरीके से वसूली हो रही है। हरियाणा सरकार ने इस तरह की हरकतों को अंजाम देने के वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है। सरकार ने इसके लिए एक कंट्रोल रूम स्थापित किया है, जिस पर कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है।
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने बताया कि एम्बुलेंस संचालकों द्वारा मनमाने दाम वसूले जाने और दवाइयों की कालाबाज़ारी और मुनाफाखोरी के मामलों में 45 लोगों को राज्य में अभी तक गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इन दिनों एम्बुलेंस संचालकों द्वारा कोरोना और अन्य मरीजों से मनमाने दाम वसूले जाने के मामले सामने आ रहे हैं जिसे सरकार ने गम्भीरता से लिया है और इसमें शामिल लोगों के साथ सख्ती से पेश आ रही है। 

कालाबाजारी रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने लिया फैसला, घर-घर जाकर ऑक्सीजन सिलेंडर होंगे रिफिल

उन्होंने कहा कि दवाइयों की कालाबाजारी और एम्बुलेंस के लिए अधिक पैसे वसूलने के मामलों में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।उन्होंने कोरोना मरीजों की जिंदगियों बचाने में जुटे डॉक्टरों, नर्सों, पैरा-मेडिकल स्टाफ, सरकारी कर्मचारियों और अन्य फ्रंटलाइन वर्करों को सलाम करते हुए उम्मीद जताई कि इनकी सहायता से कोरोना के खिलाफ जंग अवश्य जीतेंगे।
गृहमंत्री ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि इस पार्टी के लिए कोरोना सियासत का मुद्दा बन गया है। हौंसला बढ़ने के बजाय कांग्रेस हर रोज कोरोना से लड़ रहे लोगों का मनोबल गिराने का प्रयास कर रही है। इससे न केवल मरीजों का बल्कि स्वास्थयकर्मियों का मनोबल भी गिरता है। उन्होंने कहा कि राज्य में लॉकडाउन को लेकर सरकार शीघ्र ही निर्णय लेगी।
facebook twitter instagram