World Cup 2019 :पत्नी हसीन जहां ने मोहम्मद शमी की हैट ट्रिक पर दिया ये बयान

इंग्लैंड और वेल्स में खेले जा रहे आईसीसी क्रिकेट वल्र्ड कप 2019 में भारतीय टीम ने अपना बेहद शानदार प्रदर्शन किया है। पहले पाकिस्तान को धोया और फिर अफगानिस्तान को हराकर अपने नाम जीत दर्ज की है।  अब भारत का अगला मुकाबला वेस्टइंडीज से होने वाला है जिसके लिए खिलाडिय़ों ने अभी से ही मेहनत करनी शुरू कर दी है। 


हाल ही में अफगानिस्तान की टीम के साथ खेले गए मैच में भारतीय गेंदबाज भी पूरे जोश में दिखाई दिए। वैसे देखा जाए तो इस मैच में सबसे ज्यादा अपने जलवा किसी ने बिखेरा तो वो कोई और नहीं बल्कि तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी हैं। शमी ने अंतिम ओवर में हैट ट्रिक लेकर भारत को शानदाज जीत दिलाई। लेकिन इसी बीच शमी के शानदार प्रदर्शन पर उनकी पत्नी हसीन जहां का बयान सामने आया है। 

आखिर क्या कहा हसीन जहां ने?

भारतीय टीम अफगानिस्तान के साथ खेले गए मैच में सिर्फ 224 रनों का ही स्कोर खड़ा कर पाई। मैच में एक समय पर ऐसा लगा कि अफगानिस्तान की टीम इस लक्ष्य को बड़ी आसानी से हासिल कर लेगी। लेकिन उसी समय मोहम्मद शमी ने अपना जादू दिखाया और अंतिम ओवर में हैट ट्रिक करके पूरे मैच को ही चेंज कर डाला। 


शमी के इस प्रदर्र्श पर उनकी पत्नी हसीन जहां ने मीडिया से बात करते हुए बोला है कि भारतीय टीम को अगर वल्र्ड कप जीतना है तो इसी तरह से बढिय़ा प्रदर्शन जारी रखना होगा। क्योंकि अपने देश के लिए खेलना हर क्रिकेटर के लिए बड़ी गर्व की बात है और यदि आप अपनी टीम को जिताते हैं तो इससे अच्छी कोई और बात हो ही नहीं सकती। मेरी दिल से ख्वाहिश है कि भारतीय टीम विश्व कप लेकर आए। 


बता दें कि अफगानिस्तान के खिलाफ मोहम्मद शमी ने अपनी आतिशी गेंदबाजी से करोड़ों भारतीय फैंस का दिल जीत लिया,लेकिन शमी की जिंदगी में एक वक्त ऐसा भी आया जब उन्हें पूरे देश के सामने सिर झुकाना पड़ा था। दरअसल शमी की पत्नी हसीन जहां ने मोहम्मद शमी और उनके परिवार के ऊपर जान से मारने का आरोप लगाया था।


इसके साथ ही शमी की पत्नी हसीन जहां ने ये भी आरोप लगाया कि शमी का दूसरी महिलाओं के साथ अवैध संबंध है। और इसी वजह से उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई। हसीन जहां ने बताया कि शमी के घरवाले उन्हें जगहर देकर मारने की कोशिश कर रहे थे।


लेकिन शमी के लिए सबसे अच्छी बात ये हुई कि उनके ऊपर इतने सारे आरोप होने के बावजूद बीसीसीआई ने उनका साथ नहीं छोड़ा। शमी बेशक कुछ दिनों के लिए मैदान से बाहर रहे,लेकिन उनके प्रति बोर्ड का विश्वास कभी भी कम नहीं हुआ। राजनीतिक दवाब होने के बाद भी शमी लगातार मैच खेलते रहे इतना ही नहीं उन्होंने अपने ऊपर किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं आने दिया। 

Tags : ,Haseen,World Cup,Mohammad Shami