+

हाथरस: ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच गैंगरेप पीड़िता का कराया गया अंतिम संस्कार

गांव वालों के भारी विरोध के बावजूद पीड़िता का अंतिम संस्कार करा दिया। लोगों के गुस्से को देखते हुए इलाके में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। उधर, परिवार वालों की ओर से लगातार न्याय की मांग की जा रही है।
हाथरस: ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच गैंगरेप पीड़िता का कराया गया अंतिम संस्कार
हाथरस गैंगरेप पीड़िता का शव मंगलवार देर रात गांव पहुंच गया और परिवार और गांव वालों के भारी विरोध के बीच पीड़िता का अंतिम संस्करा कर दिया गया। मगर जब आधी रात को पीड़िता का शव गांव पहुंचा था तो गुस्साए गांवा वालों ने अंतिम संस्कार को राजी नहीं थे।

बहरहाल, गांव वालों के भारी विरोध के बावजूद पीड़िता का अंतिम संस्कार करा दिया गया है। लोगों के गुस्से को देखते हुए इलाके में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। उधर, परिवार वालों की ओर से लगातार न्याय की मांग की जा रही है, इससे पहले परिवार ने जल्दबाजी में अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था। 

इस बीच, मामले में राजनीति भी तेज हो गई है। यूपी कांग्रेस ने ट्वीट कर पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस पीड़िता का जबरन अंतिम संस्कार करना चाहती है। है. यूपी कांग्रेस ने ट्वीट किया, "पुलिस जबरन हाथरस पीड़िता का अंतिम संस्कार करने पर आमादा है। परिजन कह रहे हैं कि एक बार घर ले जाने दो। कितनी हैवानियत पर उतर आई है सरकार।" 

साथ ही यूपी कांग्रेस ने इस ट्वीट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया, जिसमें गांव के लोग एंबुलेंस के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस हादसे पर ट्वीट किया। राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘उप्र के ‘वर्ग-विशेष’ के जंगलराज ने एक और युवती को मार डाला। सरकार ने कहा कि ये फ़ेक न्यूज़ है और पीड़िता को मरने के लिए छोड़ दिया। ना तो ये दुर्भाग्यपूर्ण घटना फ़ेक थी, ना ही पीड़िता की मौत और ना ही सरकार की बेरहमी।’’ 

गौरतलब है कि करीब आठ साल पहले 16 दिसंबर, 2012 की रात दिल्ली की सड़कों पर चलती बस में फिजियोथेरेपी की छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ था और अपनी चोटों और अपने साथ हुई क्रूरता से लड़ते हुए उसने भी हाथरस की दलित युवती की तरह दम तोड़ दिया था। दोनों घटनाओं में समानता ने लोगों को स्तब्ध कर दिया है।

हाथरस के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शुरुआत में पुलिस को सूचना मिली थी कि संदीप (20) ने 19 साल की युवती की हत्या का प्रयास किया है और उसे उसी दिन गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में मजिस्ट्रेट के समक्ष अपने बयान में युवती ने बताया कि संदीप के अलावा रामू, लवकुश और रवि ने भी उसके साथ बलात्कार किया और जब उसने विरोध किया तो उन्होंने उसका गला घोंटने की कोशिश की। इसी दौरान उसकी जीभ कट गई।

facebook twitter