इन अंगों पर तिल होना महिलाओं और पुरुषों को बनाते हैं धनवान

हम सभी की बॉडी पर कुछ-कुछ ऐसे निशान होते हैं जो हमारे जन्म से ही होते हैं। मगर इनमें कुछ ऐसे भी होते हैं जो समय के साथ बॉडी पर उभरते रहते हैं। इन सभी निशानों और चिन्हें का महत्व समुद्रशास्त्र में बताया गया है। ऐसा कहा जाता है शरीर पर मौजूद लहसन,मस्सा और तिल इन सभी का अपना-अपना महत्व होता है। शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर स्थिति के मुताबिक यह शुभ और अशुभ परिणाम देते हैं। तो आइए जानते हैं शरीर पर मौजूद उन तिलों के बारे में जो आपको शुभ लाभ मिलने के संकेत देते हैं। 



1.कान के पास वाली जगह पर

अगर किसी पुरुष के दाई ओर कान के पास वाले हिस्से में तिल है तो यह एक शुभ चिह् है। इस तिल के होने का अर्थ यह है कि आपको जीवन में विभिन्न प्रकार की भौतिक सुख सुविधाएं और खुशियां मिलने वाली हैं। 


2.ये तिल दर्शाते हैं सामान्य जीवन

किसी भी पुरुष या महिला के गाल,नीचे के होंठ के पास,ठोडी,कूल्हे,घुटने पर बने तिल का होना उनके सामान्य जीवन को दर्शाते हैं। ऐसे में लोगों का जीवन भी उतार-चढ़ाव के साथ सामान्य होकर बीतता है। ऐसे लोग ना बहुत ज्यादा अमीर होते हैं और ना बहुत गरीब।


3.धनवान और सात्विक

अगर किसी इंसान के गले पर तिल होता है तो ऐसे व्यक्ति में दया और भक्ति का भाव अधिक देखने को मिलता है। वहीं भुजाओं में तिल होने पर व्यक्ति का पैसे वाले होने की तरफ इशारा होता है। 


4.होता है धनवृद्धि का संकेत

समुद्रशास्त्र के मुताबिक जिन भी लोगों की हथेली में तिल होता है ऐसे लोगों के धन कोष में लगातार वृद्घि होती रहती है,मगर उनकी मुठ्ठी बंद करने पर यह तिल मुठ्ठी के अंदर होना शुभ माना जाता है। अगर यह तिल मुठ्ठी के बाहर है तो धन की स्थिति बहुत ज्यादा नहीं रहती। 


5.लक्ष्मीवास और शांत स्वभाव

जिन भी लोगों की मध्यमा उंगली के पास तिल होता है। ऐसे लोग काफी शांत स्वभाव के होते हैं। वहीं जिन लोगों की अनामिका उंगली पर तिल होता है उन्हें उच्च विद्या प्राप्ति होती है। साथ ही ऐसे लोगों के जीवन में हमेशा लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। 


6.धन लाभ और संतान 

जिस भी व्यक्ति के कनिष्ठा यानी सबसे छोटी उंगली पर तिल होता है। उसे उत्तम संतान की प्राप्ति होती है इन लोगों के जीवन में धन लाभ भी बना रहता है। ये लोग अपने सांसारिक जीवन में बेहद खुशहाल होते हैं। 

Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,birth