+

निजी अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों को भी मिलेगी 50 लाख की बीमा राशिः मंगल पांडेय

भारत सरकार के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत 50 लाख रूपये बीमा का लाभ प्राइवेट सेक्टर में काम कर रहे डाॅक्टरों और कोबिड मरीजों का उपचार कर रहे अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को भी मिलेगा।
निजी अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों को भी मिलेगी 50 लाख की बीमा राशिः मंगल पांडेय
पटना :  भारत सरकार के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत 50 लाख रूपये बीमा का लाभ प्राइवेट सेक्टर में काम कर रहे डाॅक्टरों और कोबिड मरीजों का उपचार कर रहे अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को भी मिलेगा। बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना का लाभ उन प्राइवेट अस्पतालों के डाॅक्टरों, नर्सों, पैरा मेडिकल स्टाफ एवं उन कर्मियों को मिलेगा, जिनकी असामयिक मृत्यु कोबिड मरीजों के उपचार के दौरान होगी। इसका लाभ जिला प्रशासन द्वारा चिह्नित प्राइवेट अस्पतालों को ही मिलेगा। अभी जिला प्रशासन द्वारा सूबे में 120 प्राइवेट अस्पताल चिह्नित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भारत सरकार की इस महत्वाकांक्षी बीमा योजना से प्राइवेट सेक्टर में कार्यरत चिकित्साकर्मियों का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा और कोरोना के खिलाफ संघर्ष में उनका मनोबल ऊंचा होगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कोबिड विजेताओं द्वारा प्लाज्मा दान को ज्यादा से ज्यादा प्रोत्साहित करने के लिए प्रति प्लाजमादाता प्रोत्साहन राशि देने हेतु माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसकी प्रक्रिया पूरी कर सरकार को भेजी जा रही है, जिसकी कैबिनेट स्तर पर शीघ्र स्वीकृति मिल जाने की उम्मीद है। इससे उनका उत्सावर्द्धन होगा और प्लाज्मा देनेे वालों की संख्या बढ़ने के अलावे जरूरतमंद मरीजों को इसका लाभ भी मिलेगा। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही पटना के जयप्रभा अस्पताल और भागलपुर के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल में प्लाज्मा लेने का काम शुरू हो जाएगा। इसके लिए दोनों संस्थानों में ‘एपरहेसिस’ मशीन अधिष्ठापित किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि अब कोरोना की प्रखंड स्तर पर भी अस्पतालों में निःशुल्क जांच की व्यवस्था की गई है। साथ ही जिलों में स्वास्थ्य विभाग ने एक टाॅल फ्री नंबर भी जारी किया गया है, जिस पर इस संबंध में किसी भी तरह की जानकारी आम लोग ले सकते हैं और दे सकते हैं, जिस पर त्वरित कार्रवाई होगी।
facebook twitter