+

'डेड स्किन' को चेहरे के साथ-साथ इन अंगों पर से भी ऐसे करें रिमूव

'डेड स्किन' को चेहरे के साथ-साथ इन अंगों पर से भी ऐसे करें रिमूव
काले दाग की परत या छोटे-छोटे दाने शरीर के कई हिस्सों में होते हैं। लेकिन यह शरीर पर बहुत ही गंदे लगते हैं। अक्सर लोगों को लगता है कि किसी कमी की वजह से शरीर पर यह निशान हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं यह निशान शरीर पर किसी कमी से नहीं बल्कि आपके नजरअंदाज करने की वजह से हाेते हैं। 


जब शरीर एक जगह पर त्वचा की मृत कोशिकाएं इकट्ठा होती हैं तो उन्हें हटाने के लिए स्क्रब करने की जरूर पड़ जाती है। अक्सर रोजाना चेहरे का निखार बने रहने के लिए आप स्क्रब करते हैं और यह भी ध्यान देते हैं कि चेहरे पर ब्लैकहेड्स ना हों। हालांकि कुछ ऐसे भी अंग शरीर में होते हैं जहां पर एक्सफोलिएट यानी मृत कोशिकाओं को हटाने की बहुत आवश्यकता होती है। लोग इन पर ध्यान नहीं देते हैं।


ज्यादातर लोगों को वैक्स या शेव करने से पैरों पर जलन हो जाती है। ऐसे में रेजर बंप का करे आपको अपनी मृत कोशिकाओं की परत जरूर हटानी होती है। शेविंग या वैक्स करने के बाद आप अपनी त्वचा पर एक्सफोलिएटिंग शेविंग जेल का इस्तेमाल करें। त्वचा पर यह जेल लगाने से पैर सॉफट होंगे साथ ही छोटे-छोटे दानें भी नहीं होंगे। 


लोगों की आम समस्या होंठों का फटना और रूखे होना हो चुका है। कई बार लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं एक्सफोलिएशन की आपके होठों को रोज जरूरत होती है। अक्सर लड़कियां लिपस्टिक फटे होंठों की वजह से नहीं लगा पाती हैं। 


अगर आपके होठ भी फटे और रूखे रहते हैं तो रोजाना उन्हें स्क्रब करें। होंठों की त्वचा पतली होती है इसलिए उन्हें जोर से स्क्रब नहीं करना होता। होंठों को जब आप स्क्रब कर लेंगे तो उसके बाद मॉइश्चराइजिंग लिप बाम होती है उसका जरूर इस्तेमाल करें। 


अक्सर लोगों की बाजू पर छोटे-छोटे दाने हो जाते हैं और वह उनकी समझ में नहीं आता। बता दें कि इन दोनों का मतलब होता है कि एक्सफोलिएट आपकी बाजू को जरूरत है। आपकी त्वचा की रंगत एक्सफोलिएट करने से हल्की होती है साथ ही जब आप वैक्सिंग अगली बार कराएंगे तो उसमें भी बहुत मदद मिलेगी। 


ऐसा इसलिए क्योंकि इन-ग्रोन बाल की जो परेशानी होती है उसे यह कम कर देती है। माइल्ड बॉडी स्क्रब बाजू पर यूज करना चाहिए। अपनी बाजू को स्क्रब सप्ताह में दो बार जरूर करें। जब आप अपनी बाजू पर स्क्रब कर लेंगे तो उसे गुनगुने पानी से धो दें। 


एड़ियों को पेडिक्योर महीने मे दो बार कराना चाहिए साथ ही पेट्रोलियम जेली रोजाना रात को लगाने से मुलायम होती हैं आपकी एड़ियां। साथ ही एड़ियों की मृत कोशिकाएं भी कम हो जाएंगी। हफ्ते में दो बार तो एड़ियों को स्क्रब करें। त्वचा को नया बनाने में स्क्रब बहुत मदद करती है। जब आप एड़ियों को स्क्रब कर लेंगे तो उस पर क्रीम या मॉइश्चराइचर जरूर लगाएं उसके बाद पैरों में मोजे डाल लें। 
facebook twitter